2 लाख 50 हजार नए व्यापारियों ने जीएसटी में कराया अपनी रजिस्ट्रेशन

जीएसटी लागू होने के कुछ दिन भीतर ही ज्यादा संख्या में कारोबारी इस नए टैक्स की पंजीकरण कराने की कतार में आ रहे है। सूत्रों के मुताबिक, पिछले आठ दिनों में लगभग ढाई लाख नए कारोबारियों ने जीएसटी में पंजीकरण के लिए आवेदन किया है। वित्त मंत्रालय के सूचना के अनुसार, 25 जून से 2 जुलाई के बीच 2.23 लाख नए डीलरो ने जीएसटी के कॉमन पोर्टल जीएसटीएन में पंजीकरण के लिए आवेदन किया है। इसमें 63,000 ने पूरा ब्यौरा दाखिल किया है, जिसमें से 32,000 डीलर को नया पंजीकरण दे दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, अब तक ढाई लाख के आस-पास पंजीकरण आवेदन पहुंच चुके हैं। 
इस नतीजे से अंदाजा लगाया जा सकता है कि कारोबारियों में इस नए टैक्स के दायरों में आने का उत्साह है। उल्लेखनीय है कि देशभर में केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर और वैट के लगभग 80 लाख असेसी थे जिनमें से 65 लाख से अधिक असेसी जीएसटी के लिए माइग्रेट कर चुके हैं। वहीं, कुछ व्यापारी ऐसे हैं जिन्हें जीएसटी से छूट की सीमा सालाना 20 लाख रुपये कारोबार होने की वजह से पंजीकरण कराने की जरूरत नहीं है। ऐसे में नए पंजीकरण कराने के लिए जिस तरह आवेदन आ रहे हैं, उससे पता चलता है कि ज्यादातर लोग इस टैक्स के दायरे में आना चाहते हैं।
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW