अब आपके गंदे और लिखे हुए नोटों को लेने से इंकार नहीं कर सकता बैंक

नई दिल्ली : अब कोई बैंक गंदे या लिखे हुए नोट को लेने से इंकार नहीं कर सकते है। दरअसल, बीते दिनों में भारतीय रिज़र्व बैंक के पास कुछ शिकायतें आ रही थी की बैंक उनके पुराने नोट नहीं बदल रहे हैं। लोगों की शिकायत थी कि बैंक गंदे, लिखे और कलर वाले नोट खास करके 500 और 2000 के नोट नहीं ले रहे है।

इन्हीं शिकायतों के बाद आरबीआई ने बैंकों को यह सर्कुलर जारी किया। केंद्रीय बैंक ने यह साफ कह दिया है की यह सिर्फ बैंक के एम्प्लाइज के लिए ही था क्योंकि आरबीआई को पता चला कि बैंक के अधिकारियों को नोटों पर लिखने की आदत हो गई है जो रिजर्व बैंक की क्लीन नोट पॉलिसी के खिलाफ है। वहीं, भारतीय रिज़र्व बैंक ने लोगों से यह आग्रह किया है की वो नोट को साफ़ रखने में मदद करें।

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने यह अफवा फैलाई थी की अब बैंक गंदे और लिखे नोट एक्सेप्ट नहीं करेगा और ज्यादातर बैंक ऐसे नोट ले भी नहीं रहा है। तब इन अफवाहों के बीच आरबीआई ने दिसंबर 2013 के बयान की याद दिलाई। आरबीआई ने कहा था कि उसने गंदे नोट स्वीकार नहीं किए जाने को लेकर कोई निर्देश नहीं दिया है।  

Share This Post