टैक्सी की टेंशन खत्म, 13 दिन बाद खत्म हुई ओला-उबर के ड्राइवरों की हड़ताल

नई दिल्ली : 13 दिन बाद आखिरकार कैब देने वाली कंपनी ओला उबर की हड़ताल आखिरकार खत्म हो गई है। दिल्ली सरकार ने हड़ताल कर रहे चालकों और उबर तथा ओला के प्रतिनिधियों के साथ आज बैठक की। यह बठक करीब चार घंटे चली।  इसके बाद हड़ताल वापस ले ली गयी।
हड़ताल का नेतृत्व कर रही सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन ऑफ दिल्ली ने दावा किया कि ओला ने उनकी मांगों को स्वीकार कर लिया है। हालांकि, कपंनी के प्रबंधन ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। आपको बता दें कि दोनों टैक्सी कंपनियों के साथ काम कर रहे हजारों चालक कम वेतन और बुनियादी सुविधाओं के अभाव का हवाला देते हुए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए थे।
वहीं, एसडीएडी ने कहा है कि उन्होंने हड़ताल 27 फरवरी तक के लिए समाप्त कर दी है क्योंकि एप वाली कैब कंपनियों ने इस मुद्दे को सुलझाने के लिए समय मांगा है। एसडीएडी के उपाध्यक्ष रवि राठौड़ ने कहा कि बठक में एक ओला प्रतिनिधि ने डीडीडी नियम को खत्म करने का आश्वासन दिया। इस नियम के तहत चालक को 500 रपये का जुर्माना देना होता था अगर वह यात्री को ले जाने से मना करता था। इसके अलावा कंपनी छह रपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर किराया देने में भी सहमत हो गयी है। 
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW