गाय को पालने की अब मचेगी होड़ क्योंकि बिकेगा अब गौमूत्र भी और बचाएगा कईयों के प्राण


अब गौमाता लावारिश नहीं घूमेगी बल्कि लोगों के बीच गाय को पालने के होड़ मचेगी. ऐसा इसलिए क्योंकि केंद्र की मोदी सरकार ने गोउत्पादों को लेकर बड़ी योजना तैयार की है जिसके तहत केंद्र सरकार उन स्टार्टअप कंपनियों को बढ़ावा देने की तैयारी कर रही है, जो गाय के गोबर और मूत्र आदि के व्यावसायीकरण पर काम कर रही हों. ऐसी कंपनियों को अपना कारोबार शुरू करने के लिए जरूरी निवेश में 60 फीसदी तक मदद सरकार की ओर से मिल सकती है. कुछ महीनों पहले ही गठित राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के चेयरमैन ने यह जानकारी दी है.

काउ बोर्ड के चेयरमैन वल्लभ कठेरिया ने बताया, ‘हम युवाओं को गाय पर आधारित उद्योग के लिए प्रोत्साहित करेंगे और उनसे गाय के मुख्य उत्पाद दूध और घी ही नहीं बल्कि औषधीय और कृषि उद्देश्यों के लिए गोमूत्र और गाय का गोबर भी हासिल करेंगे.’ नरेंद्र मोदी सरकार ने इसी साल फरवरी में 500 करोड़ रुपये के शुरुआती धनराशि के साथ कामधेनु आयोग की शुरुआत की थी. इसका उद्देश्य इस तरह के नए बिजनस को रफ्तार देने का है.

कठेरिया ने कहा कि गोमूत्र और गाय के गोबर का औद्योगीकरण लोगों को प्रोत्साहित करेगा कि वे ऐसी गायों को न छोड़ें जिन्होंने दूध देना बंद कर दिया है. हम काउ बाय प्रॉडक्ट्स के औषधीय मूल्यों पर होने वाले रिसर्च को भी प्रोत्साहित करेंगे. बोर्ड ऐसे बाय प्रॉडक्ट्स के लिए स्कॉलर्स और रिसर्चर्स को अपना प्रॉजेक्ट दिखाने के लिए एक मंच भी देगा. उन्होंने आगे कहा कि जो लोग पहले से ही गौशाला चला रहे हैं, हम उनके लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम्स और स्किल डिवेलपमेंट कैंप का भी आयोजन करेंगे. बता दें बोर्ड चेयरमैन ने पहले ही काउ टूरिज्म सर्किट को बढ़ावा देने की योजना का ऐलान किया हुआ है.

वल्लभ कठेरिया ने बताया कि हम गायों पर आधारित कारोबार शुरू करने के लिए युवाओं को उत्साहित करेंगे. ऐसा इसलिए ताकि न केवल दूध और घी से कमाई हो, बल्कि गोमूत्र और गोबर जैसी चीजों का भी इस्तेमाल दवाओं और कृषि क्षेत्र में किया जा सके. कठेरिया अकादमिक जगत के एक्सपर्ट्स और गुजरात के गांधीनगर स्थित आंत्रप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टिट्यूट के छात्रों से मुलाकात कर रणनीति बना रहे हैं ताकि युवाओं को गायों से जुड़े इस बिजनेस मॉडल से जुड़ने के लिए लुभाया जा सके.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...