माया तक तो ठीक था, अब उनका भाई भी

नई दिल्ली : मायावती के भाई आनंद कुमार एक बार फिर से आयकर विभाग की निगाह में चढ़ चुके है। आयकर विभाग ने आनंद कुमार से जुड़ी फर्मों और कारोबारों के दर्जन भर परिसरों में जांच पड़ताल की। अधिकारियों के मुताबिक दिल्ली और एनसीआर में कुमार से जुड़े दर्जन भर प्रतिष्ठानों में आयकर सर्वे का यह काम देर शाम तक चलता रहा।

विभागीय अधिकारियों को इस दौरान क्या मिला है, इस बारे में अधिकारी कुछ भी बताने से कतरा रहे हैं। आयकर विभाग की टीम का कहना है कि आनंद कुमार और उनसे जुड़ी सहयोगियों की कंपनियों के साथ करीबी रिश्तेदारों में रखने वाली कुछ कारोबारी इकाइयों और बिल्डरों के खिलाफ भी हम लाल मोहर और सत्यापन की कार्रवाई की जाएगी।

ऐसा लगता है कि मायावती प्रदेश की मुखिया होने का पूरा औंदा उनके भाई ने खुब इस्तेमाल किया है। फिलहाल, इस तरह की सौदों की वास्तविकता की जांच-पड़ताल पूरी की जाएगी। गौरतलब है कि आयकर विभाग की छापामारी कार्रवाई को एक इकाई में केवल व्यावसायिक परिसर में ही जांचा जाएगां। यानी कि इसके तहत सम्बद्ध इकाई के आवासीय परिसरों में कोई कार्रवाई नही की जाती है।

सुत्रों के अनुसार एक रिपोर्ट में आयकर विभाग नें 1300 करोड़ रुपए की संपत्ति की जांच कर रहा है। रिपोर्ट नें दावा किया है कि आनंद कुमार की 12 बड़ी कंपनियां है और 1316 करोड़ रुपए जिन पर जांच हो रही है। उनमें 440 करोड़ रुपए नकद और 970 करोड़ रुपए अचल संपत्ति भी शामिल है।

       

Share This Post