Breaking News:

बांगड़ सीमेंट का नाम आप ने भी सुना होगा… अब उस पर पड़ रहा है छापा,, जानिए क्यों?

मोदी सरकार के राज में अब भ्रष्टाचारियों की खेर नहीं है। जो वादे पीएम मोदी ने जनता से किये थे उन्हें वो पूरा कर रहे है। भ्रष्टाचार के खिलाफ अब तक कई

कदम उठाये गए है जिनमे से नोटबंदी भी एक है। मोदी सरकार का रवैया भ्रष्टाचारों के लिए बहुत सख्त है। नोटबंदी के बाद अब आये दिन आयकर विभाग छापे

मारकर खुलासे कर रहा है। भ्रष्टाचार को खत्म करने में अब आयकर विभाग भी सतर्क हो गया है और अपनी नज़र भ्रष्टाचारियों के ठिकानों पर गड़ाये बैठा है।

कोई भी भ्रष्टाचारी अब बच नहीं पाएगा।

अभी हाली में आयकर विभाग ने राजस्थान के औद्योगिक घराने के एक दर्जन ठिकानों पर एक साथ आयकर छापे की

कार्यवाही की है। अब बांगड समूह के भीलवाड़ा, उदयपुर सहित एक दर्जन ठिकाने आयकर विभाग की चपेट में आ गए है। बता दें कि अब बांगड ग्रुप की मुश्किलें

बढ़ गयी है। इस खुलासे के पीछे आयकर विभाग की जयपुर, जोधपुर और उदयपुर की टीमो का हाथ है जो कि भीलवाड़ा के शास्त्रीनगर स्थित फैक्टियों सहित कई

स्थानों पर छापे मारने में कामयाब रही।

आपको बता दे की आयकर विभाग पहले से ही भ्रष्टाचार करने वालो पर नज़र रखे हुआ था।

अब तक कई जानी मानी राजनितिक हस्तियों के ठिकानों पर छापे

मारे गए है। मायावती के कार्यकाल में नोएडा अथॉरिटी के ओएसडी यशपाल त्यागी के नोएडा समेत 4 ठिकानों पर इनकम टैक्स छापे मारे गए। बता दें कि इनकम

टैक्स विभाग ने राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और उनके बेटों के दिल्ली-एनसीआर में मौजूद 22 ठिकानों पर छापेमारी की है। आईटी विभाग को लालू की 1000

करोड़ की बेनामी संपत्ति होने का शक है।

इतना ही नहीं आयकर विभाग ने चोरी के मामले में शिवकुमार के 64 ठिकानों और संपत्तियों की तलाशी ली थी और मंत्री से जुड़ी संपत्तियों की तलाशी के दौरान

11करोड़ रुपये नकद बरामद किए गए। एक के बाद एक सभी भ्रष्टाचारियो के चेहरे सामने आ रहे है। पी.चिदंबरम के बेटे कीर्ति भी आयकर विभाग के शिकंजे में

आ गए है। 

Share This Post