Breaking News:

वायरल हो रहा है एक मैसेज जिसमें छुट्टियों में स्कूल की फीस न देने के लिए हाईकोर्ट का आदेश बताया जा रहा.. जानिए क्या है इसका सच और कितनी सच्चाई है इसमें ?

पिछले कुछ समय से वायरल हो रहे एक सन्देश जिसमे स्कूल की छुट्टियों में फीस न देने के हाईकोर्ट के आदेश का विधिवत केस नम्बर आदि फैलाया जा रहा है .जिसमें लिखा है कि हाईकोर्ट के आदेशों के मुताबिक कोई भी स्कूल विद्यार्थियों से छुट्टियों के दिनों की फीस नहीं वसूल सकता है।  इसके चलते अधिकांश अभिभावकों में सन्देश के हालात पैदा हो चुके हैं और कईयो ने तो इसको हाईकोर्ट और स्कूल आदि से वेरिफाई भी करवाना शुरू कर दिया ..लेकिन सुदर्शन पर जानिए वो सच जो बताएगा इस वायरल मैसेज की असलियत ..

ज्ञात हो कि भारत मे सन्देह पैदा करता ये वायरल मैसेज असल मे पाकिस्तान का है और ये आदेश भारत की अदालत का नहीं बल्कि पाकिस्तान के कराची की एक अदालत का है .. सोशल साइट्स पर वायरल किये जा रहे सन्देश में हाईकोर्ट के आदेश की तिथि 5 मार्च 2018 लिखी गई है। जब इस मामले में कुछ अभिवावकों ने अपने वकील को केस नंबर भेजकर ऑर्डर के बारे में जानकारी मांगी तो पता चला कि भारत की किसी अदालत से ऐसा कोई आदेश जारी नही किया गया है ..

जब मामले की और तह तक गए तो पता चला कि ये आदेश पाकिस्तान के कराची की एक अदालत ने जारी किया है .. व्हाट्सएप के किसी पाकिस्तानी यूजर द्वारा ये सन्देश किसी भारतीय समूह में पहली बार भेजे जाने के बाद नासमझी में इसको वायरल किया जाने लगा और हालात ये बन गए कि भारतीय समाज हर वर्ग में पाकिस्तान से चला ये सन्देश वायरल हो कर सन्देह पैदा करने लगा ..

Share This Post