अब घर-घर में होगी पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी

नई दिल्लीः अगर आपकी गाड़ी में पेट्रोल और डीजल खत्म हो गया है और दिल्ली की गर्मी में आप पेट्रोल पंप पर लाइन लगाने पर मजबूर है तो, जल्द ही आपको पेट्रोल पम्प पर लाइन लगाने से छुटकारा मिलेगा। जी हां, आपके लिए मोदी सरकार और पेट्रोलियम मंत्रालय ने योजना बनाई है कि अब पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी की जाएगी। 
पेट्रोलियम मंत्रालय का कहना है कि पहले से पेट्रोलियम उत्पादों के ग्राहकों के घर तक पहुंचाने के विकल्प पर काफी दिन से विचार किया जा रहा है। यह देखा जा रहा है कि ये किन जगहों पर मुमकिन है, और किन जगहों पर नहीं। जानकारी के मुताबिक, बुकिंग करने की सुविधा सबसे पहले सूरत में मिलेगी। अब तक तो पेट्रोलियम उत्पादों में रसोई गैस सिल्डिर की होम डिलीवरी हुआ करती थी। लेकिन अब पेट्रोल-डीजल भी शामिल हो गया है। पेट्रोलियम मंत्रालय का कहना है कि इससे लोग लाइन में लगने से बचेंगे और साथ में समय की बचत भी होगी।
सरकारी आंकड़े बताते है कि देशभर में रोज 4.5 करोड़ लोग पेट्रोल या डीजल खरीदते है और हर दिन लगभग 1900 करोड़ रुपये कीमत के ईंधन की बिक्री होती है। इस योजना का अहम मुद्दा है कि देश में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा दिया जाए। आपको बता दें कि भारत में प्रतिदिन लगभग 360 मिलियन लोग पेट्रोल पंप पर जाते है। इन ईंधन स्टेशनों पर सालाना 2800 करोड रुपये का लेनदेन होता है और खपत के मामले में भारत, दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा उभोक्ता है।  
Share This Post