Zomato से मंगाया खाना तो डिलीवरी बॉय मुस्लिम था.. वापस करते हुए कहा – “सिर्फ हिन्दू के हाथ से भेजो”

शामली के कैराना विधायक नाहिद हसन ने धर्म के हिसाब से नफरत की जो फसल बोई थी अब उसके एक्शन का रिएक्शन भी दिखना शुरू हो गया है . मुसलमनो को ललकारते हुए नाहिद हसन ने कहा था कि वो गिने चुने दुकानदारों का बहिष्कार करें. इतना ही नहीं मुस्लिम समुदाय में कोई बड़ा नाम निकल कर सामने भी नहीं आया जो कि नाहिद हसंद के इस बयान का विरोध करता .. आखिरकार उनके बयान के बाद अब अन्य जगहों पर क्रिया की प्रतिक्रिया के रूप में घटनाएं सामने आने लगी हैं .

ट्विटर पर @NaMo_SARKAAR के नाम से ID प्रयोग कर रहे अमित शुक्ल ने 30 जुलाई को अपने ट्विटर वॉल पर लिखा कि जमैटो पर एक ऑर्डर मैं फौरन कैंसल कर दिया क्योंकि कंपनी ने एक गैर-हिंदू राइडर को खाना पहुंचाने के लिए भेज रहे थे. उन्होंने कहा कि वे राइडर चेंज नहीं कर सकते और ऑर्डर कैंसल करने पर रिफंड भी नहीं करना चाहते. आगे उन्होंने लिखा कि मैंने कहा कि आप मुझे डिलिवरी लेने के लिए मजबूर नहीं कर सकते. मैं रिफंड के पक्ष में नहीं हूं, बस कैंसल कर दीजिए…

जो स्क्रीन शॉट अमित शुक्ल ने शेयर की है उसमें दिख रहा है जोमेटो की तरफ से फैय्याज नाम के डिलीवरी ब्वॉय के जरिए उनके ऑर्डर को पूरा करने की जानकारी दी गई है। जैसे ही अमित को यह जानकारी मिली उन्होंने फौरान जोमेटो से डिलीवरी ब्वॉय बदलने की मांग शुरू कर दी।अमित शुक्ल ने एक और स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा है कि जब मैं आपत्ति दर्ज कराई तो जोमेटो ने उन्हें ब्लॉक कर दिया और अब ऐप पर पहले की ऑर्डर हिस्ट्री भी दिखाई नहीं दे रही है। अमित शुक्ल ने कहा है कि अब वो इस मामले में अपने वकील से सलाह लेकर जोमेटो के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

Share This Post