दाग नहीं बल्कि भारत की संस्कृति को धो रहा है सर्फ एक्सेल.. हिन्दुओ से ही पैसा कमा कर हिन्दुओ पर ही वार

ये दुर्भाग्य है उन सनातनियो का कि उन्होंने किसी का कुछ कभी नहीं बिगाड़ा , दुश्मन को भी वैदिक रीति अतिथि देवो भव के नाम ए शरण ही नहीं बल्कि सम्मान भी दिया .. खुद पर 17 बार हमले करने वाले गद्दारों को भी माफ़ किया लेकिन फिर भी उसके खिलाफ अन्तराष्ट्रीय स्तर पर साजिशें रची जाती रही हैं . बार बार उसको किसी न किसी बहाने से कोई न कोई निशाने पर लेता रहा और हर पल इस प्रयास में रहा कि किस प्रकार से उनके खिलाफ कुछ न कुछ तो जरूर किया जाय .

ज्ञात हो कि एक बार फिर से हिन्दुओ के सबसे प्रमुख त्यौहार होली के खिलाफ साजिशें रचनी शुरू हो चुकी हैं . इस बार शुरुआत की है हिन्दुओ के ही घरो में सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाले सर्फ़ एक्सेल द्वारा जो वाशिंग पाऊडर के रूप में जाना जाता है . इस सर्फ एक्सेल ने आने वाले होली के खिलाफ एक एसा विज्ञापन चलाया है जो हिन्दू समाज को आंदोलित भी कर रहा है और आक्रोशित भी .. इसको सीधे सीधे मजहबी उन्माद का रूप देने की कोशिश हुई है .

ज्ञात हो कि बॉलीवुड , नेतागीरी के बाद अब व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के निशाने पर भी आ चुका है हिन्दू धर्म .. सर्फ एक्सेल के एक विज्ञापन में साफ़ साफ़ दिखाने की कोशिश हुई है कि होली के दिन हिन्दू इस प्रकार से उन्मादी और बेकाबू हो जाता है कि वो किसी और मत या मजहब की इबादत आदि में खलल डालता है . उनके हिसाब से होली के चलते एक मुस्लिम लड़का अपने घर में छिपा रहता है जो नमाज़ आदि पढने जाने से डर रहा होता है . डर का ये वही रूप है जिसको बॉलीवुड में नस्रुद्द्दीन शाह , शाहरुख़ खान और आमिर खान जैसे कथित अदाकार दिखाने की कोशिश किया करते हैं . फिलहाल इस बेहद आपत्तिजनक विज्ञापन आने के बाद हिन्दू समाज ने सर्फ एक्सेल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा है कि #boycottSurfExcel जिसमे इस पूरी कम्पनी को हिन्दू विरोधी बताते हुए इसके हर प्रोडक्ट का बहिष्कार करने की मुहिम चली है .

Share This Post