Breaking News:

डूबे कर्ज की वसूली के लिए आरबीआई तैयार कर रहा है लोन डिफोल्टरों की सूची

नई दिल्ली : वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि डूबे कर्ज की वसूली के लिए अब आरबीआई द्वारा डिफाल्टरों की सूची तैयार की जा रही है। सूची तैयार होने के बाद इसे जारी किया जाएगा, जिसके आधार पर दिवाला और दिवालियापन संहिता के तहत कार्यवाई की जाएगी। बैंकिंग रेग्युलेशन ऐक्ट, 1949 में संशोधन के लिए पिछले महीने ऑर्डिनेंस आया था, इससे रिजर्व बैंक की ताकत बढ़ेगी और वह अपने स्तर एनपीए की समस्या से निपटने में सक्षम हो सकेगा। 
सरकार ने आरबीआई को ताकत दी है कि वह बैंकों को एनपीए की रिकवरी के लिए दिवालियेपन से जुड़े कानून के तहत कार्रवाई शुरू करने के लिए कह सके। इस अध्यादेश के जरिये सरकार ने आरबीआइ को यह अधिकार दिया है कि वह बैंकों को एनपीए वसूलने के लिए दिवालियेपन पर नए कानून के तहत कार्रवाई शुरू करने को कह सकता है। 
उन्होंने कहा कि आरबीआई दिवाला और दिवालियापन संहिता के नियमों के तहत उन फंसे कर्जों की सूची तैयार कर रहा है, जिनका समाधान करने की जरूरत है। इसके साथ ही सरकार सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के परस्पर विलय और अधिग्रहण की संभावनाओं पर भी काम कर रही है। हालांकि उन्होंने विलय एवं अधिग्रहण के बारे में कुछ भी अतिरिक्त जानकारी देने से इंकार कर दिया।
Share This Post