देश ही नहीं रुपया भी उछल पड़ा मोदी के विश्वास मत हासिल करते ही…

कल जब लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था तो राजनेता, आम जनता के साथ-२ उद्योग जगत की भी इस पर नजरें टिकी हुईं थी. अविश्वास प्रस्ताव से एक दिन पहले जब कांग्रेस नेता श्रीमती सोनिया गांधी जी ने कहा था कि कौन कहता है कि हमारे पास नंबर नहीं है तो एक बार को लगा था जिस आत्मविश्वास से सोनिया जी ये बता कह रही हैं तो कहीं ऐसा तो नहीं कि वास्तव में मोदी सरकार खतरे में आ सकती है. हालाँकि सोनिया सहित तमाम विपक्षी नेताओं के तमाम दावे हवा हवाई साबित हुए तथा मोदी सरकार ने दो तिहाई बहुमत के सार्थ विश्वास मत हासिल कर लिया. मोदी सरकार के विश्वास मत जीतते ही जहाँ देशभर में जश्न मनाया गया, वहीं उद्योग जगत में भी हर्ष की लहार फ़ैल गई.

इधर मोदी सरकार ने विश्वास मत हासिल किया तो उधर मुद्रा बाजार में जारी उथल-पुथल पर लगाम लगाने के उद्देश्य से किए गए रिजर्व बैंक के अनुमानित दखल से आज अंतरबैंकिंग मुद्रा बाजार में रुपया सर्वकालिक निचले स्तर से ऊपर उठ गया और 21 पैसे की मजबूती लेकर 68.84 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ. बता दें कि विश्वास मत से पहले शुरुआती कारोबार में रुपए की बिकवाली जारी रही और यह 69.13 रुपए प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर तक गिर गया. ऐसा संदेह किया जा रहा है कि रिजर्व बैंक ने सार्वजनिक बैंकों के जरिये बाजार में दखल दिया तथा कुछ विदेशी बैंकों ने डॉलर की थोड़ी बिक्री की. इससे रुपए को उबरने में मदद मिली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा फेडरल रिजर्व की ब्याज दर बढ़ाने को लेकर की गई आलोचना तथा मजबूत डॉलर पर चिंता जताने से डॉलर एक साल के उच्चतम स्तर से लुढ़क गया. प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर सूचकांक 0.66 प्रतिशत गिरकर 94.53 पर आ गया. डॉलर पिछले तीन महीने में पांच प्रतिशत से अधिक मजबूत हो चुका है.

ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से अब तक फेड रिजर्व पांच बार ब्याज दर बढ़ा चुका है. डीलरों ने कहा कि घरेलू स्तर पर वृहद आर्थिक कारकों के बिगड़ने तथा वैश्विक स्तर पर जारी अनिश्चितता के कारण रुपए पर निकट अवधि के लिए दबाव बना रहा. रुपया आज पिछले दिवस के 69.05 रुपए के स्तर के मुकाबले मामूली मजबूती के साथ 69.01 रुपए प्रति डॉलर पर खुला। हालांकि यह शीघ्र ही लुढ़ककर 69.13 रुपए प्रति डॉलर के सर्वकालिक निचले स्तर पर आ गया। रिजर्व बैंक के दखल से यह सुधरा और 68.82 रुपए प्रति डॉलर के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। अंतत: यह 21 पैसे यानी 0.30 प्रतिशत की मजबूती के साथ 68.84 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुआ

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW