नोटबंदी के जरिए सरकार को टैक्सपेयर्स की तादाद में हुआ 1 करोड़ रुपये का इजाफा

नई दिल्ली : प्रंधानमंत्री मोदी द्वारा ब्लैकमनी के खिलाफ चलाए गए अभियान टैक्स रिटर्न फाइल करने वोलों की संख्या में इजाफा हुआ है। टैक्सपेयर्स की संख्या में 95 लाख बढ़ गई है। इस इजाफे का आंकड़ा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मंगलवार रेवेन्यू डिपार्पमेंट में पेश किया गया है। प्रेजेंटेशन के मुताबिक, सरकारी अधिकारियों का कहना है कि लगभग 95 लाख नए टैक्सपेयर्स जुड़े है।

आपको बता दें कि नोटबंदी के ज़रिए ज्यादा से ज्यादा लोग टैक्स के दायरे में आएं और रिटर्न फाइल किए। लेकिन देश की आबादी में से केवल एक फीसदी लोग इनकम टैक्स चुकाते है। पिछले साल 2016 में 5 करोड़ 28 लाख रिटर्न फाइल किए गए थे। इस तरह इससे पहले वाले साल के मुकाबले संख्या में 22 फीसदी का इजाफा हुआ था।

गौरतलब है कि आयकर विभाग ने ब्लैक मनी के खिलाफ जंग के तहत टैक्स चोरी करने वालों के खिलाफ अभियान छेड़ा था। इस अभियान से 18 लाख लोगों की पहचान की थी, जिन्होंने 8 नवंबर को पीएम की ओर से नोटबंदी की घोषणा होने के बाद रद्द किए गए 500 और 1000 रुपये के नोटों को बैंक में डिपॉजिट किए गए थे। इसके दौरान टैक्स चोरी करने वालों की शिनाख्त की गई थी, जिन्होंने इनकम होने के बावजूद रिटर्न फाइल नहीं किया था या अपनी आमदनी के मुताबिक टैक्स नहीं चुकाया था। नोटबंदी के बाद ऑपरेशन क्लीन मनी में ऐसे लोगों की डीटेल्स ऑनलाइन उपलब्ध कराई गई थी।

Share This Post