प्रणब मुखर्जी के बाद अब भारत का सबसे ताकतवर उद्योगपति दिखेगा आरएसएस के मंच पर.. उद्योग जगत में भी भगवा सुनामी


ये खबर पढ़कर जहाँ सनातनधर्मियों तथा राष्ट्रवादियों के चेहरे खिल उठेंगे वहीं ये खबर उन तथाकथित सेक्यूलर ताकतों, राजनेताओं आदि पर कहर बनकर गिर सकती है जो अपनी स्थापना के समय से ही सनातन की भगवा ज्योति को जलाये रखने वाले दुनिया के सबसे बड़े स्वयंसेवी संगठन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से नफरत करते हैं. आपको बता दें कि अब भारत के उद्योग जगत मैं भी सुनामी आने वाली है तथा जो लोग भगवा को गलत नजरों से देखते हैं उन्हें ये जानकर धक्का लगेगा कि भारतीय उद्योग जगत का एक प्रमुख उद्योगपति आरएसएस के कार्यक्रम में शिरकत करेगा.

खबर के मुताबिक़, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद अब अगले महीने होने वाले एक कार्यक्रम में उद्योगपति रतन टाटा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक कार्यक्रम में शामिल होंगे. संघ के इस कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भगवत जी भी उपस्थित रहेंगे तथा रतन टाटा संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे. गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी पिछले महीने नागपुर में राष्ट्रीय आरएसएस के एक कार्यक्रम का हिस्सा बन चुके हैं. कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति का हिस्सा लेना चर्चा का विषय बन गया था. संघ के एक पदाधिकारी ने बताया, ‘टाटा और भागवत नाना पालकर स्मृति समिति द्वारा 24 अगस्त को आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होंगे.’ इस एनजीओ का नाम संघ प्रचारक नाना पालकर के नाम पर रखा गया. इस समिति का परिसर मुंबई के टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के पास है और यह अस्पताल के कैंसर मरीजों की मदद करती है.

संघ के पदाधिकारी ने बताया कि रतन टाटा इस परिसर का दौरा कर चुके हैं और वह एनजीओ के कार्य से अवगत हैं. संघ के पदाधिकारी के अनुसार, उद्योगपति रतन टाटा के कार्यालय से इस बारे में सम्पर्क किया था तथा वहां से सकारात्मक जवाब मिला है और रतन टाटा हमारे मेहमान बनने वाले हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...