फिल्मों में म्यूजिक डालने वाले मोहम्मद ज़हूर का अंतिम संस्कार हुआ तिरंगे में, जबकि सादे सफ़ेद कफ़न में लपेट दिए जाते हैं पुलिस के बलिदानी

ऐसे नियम और क़ानून को देख कर आप को हैरत हो जाएगी.. इस देश के लिए त्याग और बलिदान किस

Read more

नेता जी सुभाष स्मृति- भगत सिंह की फांसी रोकने के लिए बहुत कोशिश की थी नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी ने.. पर कोई था, जिसने इसमें भी किया उनका विरोध

बहुत कम लोग ही जानते होंगे ये पूरा इतिहास, शायद ही कोई जान पाया हो कि भगत सिंह के बलिदान

Read more

जानिये क्या है जनसंख्या नियंत्रण कानून का प्रारूप व दंड विधान ? जिसके लिए लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं श्री सुरेश चव्हाणके जी

श्री सुरेश चव्हाणके जी द्वारा ऐतिहासिक जनसंसद में रखे गये “जनसंख्या नियंत्रण कानून” के प्रस्ताव का प्रारूप– हिंदुस्थान की संसद

Read more

जयपुर के इन्डियन आयल मार्केटिंग मैनेजर सिराजुद्दीन से ले कर इंदौर का मजदूर जहिरुल तक निकले आतंकी..

कुछ नेताओं ने कहा कि आतंक का कारण गरीबी है , कुछ ने कहा अशिक्षा है , कुछ ने तो

Read more

आज सडक पर जानवर दिखने पर चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया है, कल आसमान में बादल दिखने पर थानेदार को फांसी तो नही दे दोगे ?

एक रामराज्य के सपने को ले कर उत्तर प्रदेश सरकार आगे बढ़ रही है . ये उत्तर प्रदेश सरकार उसी

Read more

Zomato ठीक वही कर रही थी जिसके चलते कभी मंगल पाण्डेय ने अंग्रजो के खिलाफ उठा लिया था हथियार

इतिहास खुद से खुद को दोहराता है इसको आपने केवल सुना भर रहा होगा लेकिन जो कुछ भी अब सामने

Read more

आज शांति मिली श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आत्मा को.. “जहाँ हुए थे बलिदान मुखर्जी” … अब वो कश्मीर हमारा है

इनको चढ़ाया गया था तथाकथित धर्मनिरेपक्षता की बलि , इन्हे मिली थी देशप्रेम की सज़ा और इनकी मृत्यु तक को

Read more

3 तलाक बिल के लिए मोदी सरकार में सबसे ज्यादा संघर्ष किया रविशंकर प्रसाद जी ने.. तब खत्म हुई वो कुप्रथा जो चली आ रही थी सदियों से

ये वो कुप्रथा जी जो चली आ रही थी सदियों से अनवरत रूप से.. इस कुप्रथा ने न जाने कितने

Read more

मदरसे में छापा मारना इतना भी आसान नहीं था.. लेकिन जो आसान नहीं था वो कर के दिखाया शामली पुलिस ने, IPS अजय कुमार के नेतृत्व में

जैसे ही मस्जिद , मदरसे या मजार आदि का नाम आता है वैसे ही कई आँख और कान उसी तरफ

Read more

बलिदानी सिपाहियों के शव उतरे लोडर से और SP साहब उतरे AC कार से.. क्या IPS इंसानों से एक सीढ़ी ऊपर होते हैं या अभी भी है ब्रिटिश काल?

उन सिपाहियों के घरों से जो जिस हालात में था , फोन पर खबर मिलते ही वैसे ही भागा होगा..

Read more