8 दिसम्बर: 2002 में आज ही गौ मूत्र को स्वास्थ्य के लिए अमृत बताते हुए अमेरिका ने करवा लिया था पेटेंट.. जबकि भारत मे आज भी गौ रक्षको को घोषित किया जा रहा हत्यारा

इसको बुद्धिहीनता माना जाय, विडम्बना कही जाय या विदेशी शक्तियों की कोई सोची समझी साजिश.. गाय की रक्षा के मुद्दे

Read more

7 दिसम्बर: “सशस्त्र सेना झंडा दिवस” पर नमन करें राष्ट्र के लिए न्योछावर हो गए सभी वीर बलिदानियों को और साथ दें उनके परिजनों का

ये वो दिन है जब देश की रक्षा के लिए खुद का जीवन समर्पित कर गए वीर बलिदानियों के परिवार

Read more

6 दिसंबर: आज ही गिरा था वो ढांचा जिसे कुछ ने नाम दे रखा था “बाबरी” का, जहाँ अब बनेगा श्रीराम मंदिर.. दिवंगत सभी श्रीराम भक्तों को भावभीनी श्रद्धांजलि

इस दिन ने इतिहास को पलट कर और बदल कर रख दिया था.. इस से पहले न जाने कितने शासकों

Read more

5 दिसंबर– कांगो की जमीन पर अकेले 40 दुश्मनों को मार गिराते हुए आज ही सदा के लिए अमर हो गए थे कैप्टन गुरुबचन सिंह सलारिया

भारत भूमि पर जन्म लिया वो महायोद्धा जो विदेशी धरती पर जा कर वहां के आतताईयों को सबक सिखाया..इतना ही

Read more

4 दिसम्बर- भारत की समुद्री सीमाओं के प्रहरी, राष्ट्र के रक्षक नौसैनिकों को “नौसेना दिवस” की समस्त राष्ट्रवादियों की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएं

ये उन योद्धाओं का दिन है जो समंदर की उफनती लहरों को चीर कर दिन रात नजर रखते हैं सीमाओं

Read more

3 दिसंबर: “बहुत गरीब हूँ मैं, मेरे पास मेरी भारत माँ को देने के लिए सिर्फ मेरे प्राण थे, जिसे मैं दे रहा”. जन्मजयंती क्रांतिवीर “खुदीराम बोस” जिन्हें नेहरू ने कहा था “हत्यारा”

भारतीय स्वतन्त्रता के इतिहास में अनेक कम आयु के महावीरों ने भी अपने प्राणों की आहुति दी थी। उनमें से

Read more

1 दिसम्बर: सैल्यूट कीजिये भारत की सीमाओं के सजग प्रहरियों को आज BSF स्थापना दिवस पर, जो तन कर खड़े हैं राजस्थान की रेत, हिमालय के बर्फ व असम की बरसात में भारतवासियों की रक्षा के लिए

जरा कल्पना कीजिये उस स्थान की जहाँ ऊपर से सूरज चमक रहा हो और नीचे रेत भट्टी जैसी तप रही

Read more

1 दिसंबर: जन्मजयंती परमवीर चक्र विजेता मेजर शैतान सिंह, जिन्होंने 114 सैनिकों को साथ लेकर मार डाला था 1800 चीनी फौजियों को

लता मंगेशकर जी का एक अतिप्रसिद्ध गाना आपने कई बार सुना होगा जिसमें उन्होंने गाया है – “थी खून से

Read more

30 नबम्बर – स्वदेशी आंदोलन के प्रणेता व आयुर्वेद पद्धति के पुनरुद्धारक श्रद्धेय राजीव दीक्षित जी जयंती व् बलिदान दिवस.. जिनके एक एक शब्द में छिपी है क्रांति की प्रेरणा

उनका जीवन समाज के लिए एक ऐसी प्रेरणा थी जो किसी को भी अपने देश के गौरवशाली अतीत की तरफ

Read more

29 नवम्बर- पूर्वांचल के हिन्दू शेर रहे “कृष्णानंद राय” बलिदान दिवस पर अश्रुपूरित श्रद्धांजलि जिन्हें धोखे से मरवाने का आरोपी है “मुख्तार अंसारी”.. पर, “न्याय अभी बाकी है”

वो समय कईयो को याद है .. तड़ताडती गोलियां, स्त्रियों की चीखें, उजड़ता सिंदूर, गिरती लाशें, बच्चो की चीत्कार, श्मशान

Read more