Breaking News:

14 अक्टूबर: बलिदान दिवस पर नमन है क्रन्तिपुत्री दुर्गा भाभी को. हैली और टेलर जैसे क्रूर अंग्रजो को गोली मारने वालीं वो वीरांगना जो प्रेरणा थीं चन्द्रशेखर आज़ाद और भगत सिंह की

भारत की वो नारी शक्ति जिनको कभी ठीक से जानने ही नहीं दिया गया , वो वीरांगना जो सबके सामने

Read more

14 अक्टूबर: जन्मजयंती पर शत-शत नमन क्रांतिवीर लाला हरदयाल जी को..वो बलिदानी जिन्होंने ब्रिटिश धरती पर चढ़ कर वहीं से दी उनको चुनौती

आज़ादी के ठेकेदारों ने जिस वीर के बारे में नही बताया होगा , बिना खड्ग बिना ढाल के आज़ादी दिलाने

Read more

11 अक्टूबर: – जन्मजयंती भारतरत्न नाना जी देशमुख.. जीवन ही नही देह भी दान कर दी जिन्होंने देश के लिए देशवासियों के लिए.. जी हाँ, ये है संघ शिक्षा

राजनीति के शिखर पर पहुंचकर एक झटके से सब छोड़ देना तथा समाज सेवा के लिए जुट जाना बहुत कठिन

Read more

7 अक्टूबर- जन्मजयंती पर नमन है क्रन्तिपुत्री दुर्गा भाभी को. हैली और टेलर जैसे क्रूर अंग्रजो को गोली मारने वालीं वो वीरांगना जो प्रेरणा थीं चन्द्रशेखर आज़ाद और भगत सिंह की

भारत की वो नारी शक्ति जिनको कभी ठीक से जानने ही नहीं दिया गया , वो वीरांगना जो सबके सामने

Read more

5 अक्टूबर: जन्मजयंती वीरांगना रानी दुर्गावती, जिन्होंने उस अत्याचारी तथा कामुक अकबर को तीन बार युद्ध में हराया, जिसे बताया जाता है महान

आज के ही दिन अवतरित हुई थी भारतीय नारियो की वो महाशक्ति जिसने अकबर जैसे क्रूर और दुराचारी के आगे

Read more

3 अक्टूबर: बलिदान दिवस राजा विजय सिंह, जिन्होंने 1824 में ही अंग्रेजों के खिलाफ फूंक दिया था स्वतंत्रता का बिगुल.. इस युद्ध में खड्ग भी था और ढाल भी

अभी थोड़े समय में पहले अहिंसा और बिना खड्ग बिना ढाल वाले नारों और गानों का बोलबाला था . हर

Read more

29 सितंबर: बलिदान दिवस वीरांगना मातंगिनी हाजरा.. जिन्होंने तीन गोलियां लगने के बाद भी हाथ से गिरने नहीं दिया तिरंगा तथा वंदेमातरम बोलते हुए ली अंतिम सांस

अगर आप मातंगिनी हाजरा जैसी भारत की वीरांगनाओं के शौर्य की गाथा सुनोगे तो शायद आप “दे दी हमें आजादी बिना खड़ग

Read more

26 सितंबर: जन्मजयंती परमवीर चक्र विजेता सूबेदार जोगिन्दर सिंह.. गोलियां खत्म तो संगीनों से ही चीर दी चीनियों की छाती और हो गये अमर

भारतीय सेना की सिख रेजीमेंट के सूबेदार जोगिन्दर सिंह.. जिनकी जांबाजी तथा वीरता की गाथा लिखी जाए तो कलम में

Read more

24 सितंबर: बलिदान दिवस वीरांगना प्रीतिलता वादेदार, जिन्होंने अंग्रेजों से लड़ते हुए मात्र 21 वर्ष की आयु में दिया बलिदान.. सोचिये आजादी चरखे व अहिंसा से मिली या फिर ऐसे बलिदानों से ?

ये भारत की वो गुमनाम बलिदानी वीरांगना हैं जिनके गुमनामी के दोषी अंग्रेजो से ज्यादा वो नकली कलमकार हैं जिन्होंने

Read more

23 सितम्बर- बलिदान दिवस, 1857 के क्रांतिवीर राव तुलाराम. ब्रिटिश धरती तक कांपी थी इनकी भुजाओं के पराक्रम से

भगवान श्रीराम और हिन्दुओ के खिलाफ भी लिख कर खुद को बहुत बड़े इतिहासकार का तमगा देने वालों के इन

Read more