Breaking News:

11 फ़रवरी- बलिदान दिवस, धर्मनिष्ठ व राष्ट्रवाद के प्रतीक प. दीनदयाल उपाध्याय जी

सुविधाओं में पलकर कोई भी सफलता पा सकता है; पर अभावों के बीच रहकर शिखरों को छूना बहुत कठिन है। 25 सितम्बर, 1916 को

Read more

10 फरवरी- बलिदान दिवस क्रांतिवीर सोहनलाल पाठक.. आज़ादी के युद्ध में हांगकांग, मनीला, अमेरिका से ला रहे थे हथियार और बर्मा में झूल गये थे फांसी जबकि इतिहास के पन्ने रंग दिए गए क्रूर मुगलों की वाहवाही से

कभी एक दौर था जिसको गुलामी कहा जाता था, उस समय इंसानों को दास बना कर रखने की प्रथा थी

Read more

9 फरवरी- अत्याचारी अंग्रेज अफसर रेंड का वध कर के आज ही फांसी पर झूल गये थे क्रांतिवीर बालकृष्ण चाफेकर

जानते है वीर बहादुर बालकृष्ण चापेकर और उनके भाइयों के जीवनकाल का इतिहास. चापेकर बंधु दामोदर हरि चापेकर, बालकृष्ण हरि

Read more

8 फरवरी – क्रान्तिपुत्री कल्पना दत्त पुण्यतिथि… इन्होंने लूट लिए थे अंग्रेजों के हथियार और बांट दिए थे क्रांतिकारियों में

जब जब भारत की आज़ादी की किताबों के अनुसार चर्चा होती है तब तब केवल कुछ लोगों को महिमामण्डित किया

Read more

7 फरवरी- बलिदान दिवस क्रांतिवीर शचीन्द्र नाथ सान्याल.. मिली थी 2 कालेपानी की सजा, घर भी हो गया था जब्त. फिर भी कुछ “बागों” से मांगा जा रहा आज़ादी में हमारे पूर्वजों के बलिदान का हिसाब

ये दोष है भारत की आजादी के नकली ठेकेदारों का और अक्षम्य पाप है उनकी चाटुकारी करने वाले तथाकथित इतिहासकारों

Read more

6 फ़रवरी- 9 योद्धाओं के साथ पाकिस्तान के 250 इस्लामिक आतंकियों को मार कर आज ही सदा के लिए अमर हो गये थे परमवीर नायक यदुनाथ सिंह

बहुत शोर सुना होगा आपने आज कल टीपू सुल्तान आदि नामो का .  तमाम आधारहीन तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर

Read more

4 फरवरी- बलिदान दिवस महायोद्धा तानाजी मालसुरे.. दक्षिण भारत से क्रूर मुगलों का संहार करते हुए वीरगति मिली तो छत्रपति शिवाजी बोले- “गढ़ आया पर सिंह गया”

इनका इतिहास बहुत कम पढने को मिलेगा आपको . असल में इनके इतिहास को वो कलमकार लिख भी नहीं सकते

Read more

3 फरवरी- 1954 तीर्थराज प्रयागराज कुम्भ भगदड़ में दिवंगत लगभग 1 हज़ार हिंदू संत व श्रद्धालुओं को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि.. तब सुरक्षा हो रही थी केवल VVIP की और शासन था जवाहरलाल नेहरु का

बहुत कम लोग ही जानते होंगे आज का इतिहास . ये वो काला दिन है जब अपनी आस्था को जीवंत

Read more

2 फ़रवरी- लाखों भूले भटकों की घर वापसी कराने वाले व अधर्म से धर्म का मार्ग दिखाने वाले अमर बलिदानी धर्मरक्षक स्वामी श्रद्धानंद जयंती

यदि आप समझते हैं कि सैनिको को पत्थर मार मार कर उनकी जान ले लेने वाले कुख्यात पत्थरबाजों को मासूम

Read more

1 फ़रवरी- जन्मदिवस, धर्मरक्षक ब्रह्मबांधव उपाध्याय जी जिन्होंने विदेशी शिक्षा को पहली बार नाम दिया था “मलेक्ष संस्कृति”

ये घटना उस समय की है जब भारत की राजधानी कलकत्ता हुआ करती थी क्योकि अंग्रेजों का मानना था कि

Read more