Breaking News:

13 सितम्बर: बलिदान दिवस क्रान्तिवीर जतिंद्रनाथ दास. अंग्रेजों ने पागलखाने के डॉक्टर को बुला कर नसों में लगाए इंजेक्शन पर जुबान पर गूंजता रहा “वन्देमातरम”

किसने कहा की मिली थी आज़ादी हमे बिना खड्ग बिना ढाल , कैसे मान लें की क्रांतिकारी वो अपने रक्त

Read more

12 सितम्बर- “सारागढ़ी युद्ध स्मृति दिवस”. जब मात्र 21 वीर सरदारों ने मार गिराए थे 600 क्रूर अफगानी आक्रान्ता

अंग्रेजों द्वारा तैयार की गयी हमारी शिक्षा प्रणाली में वैसे तो न जाने कितने छिद्र हैं ! यहाँ न जाने

Read more

11 सितम्बर- जन्मजयंती, क्रांतिवीर बिनोय कृष्ण जी. क्रूर कर्नल सिम्पसन को मोक्ष देने वाले दूसरे चन्द्रशेखर आज़ाद, जो जीवित हाथ न आये अधर्मी ब्रिटिश सत्ता के

वो गाना याद होगा .. दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल . यकीनन आप ने भी सुना होगा

Read more

10 सितम्बर: बलिदान दिवस, क्रांतिकारी जतींद्रनाथ मुखर्जी, जो 1915 में ही दे गये होते सम्पूर्ण आज़ादी यदि न हुई होती गद्दारी तो

भारत की आज़ादी की ढोल पीट पीट कर ठेकेदारी तो आप ने बहुत बार सुनी होगी पर हर हर दिन

Read more

9 सितंबर: जन्मजयंती अमर बलिदानी कैप्टन विक्रम बत्रा , जिनकी गौरवगाथा आज भी गूंज रही है कारगिल की घाटियों में

जब जब भारत की स्वतंत्रता और गुलामी की जंजीरें तोड़ने की चर्चा होगी तब तब भगत , मगंल , बिस्मिल

Read more

7 सितम्बर- जन्मजयंती, इस्लामिक आतंकियों से 400 प्राणों को बचा कर अमर हुईं नारी शक्ति की प्रतीक वीरांगना नीरजा भनोट जी

5 सितम्बर 1987..मुम्बई से न्यूयार्क के लिए रवाना PAN AM Flight जब कराची में रुकी तब नीरजा भनोट जो विमान

Read more

6 सितम्बर- क्रूर ब्रिटिश जेलर सिम्पंसन को भून कर फांसी का फंदा चूम लेने वाले क्रांतिवीर दिनेश गुप्ता जन्मदिवस. एक लाइन भी नहीं दी इन्हे इतिहास में आज़ादी के नकली ठेकेदारों ने

बहुत सुना होगा आप ने कि मिली थी आज़ादी हमें बिना खड्ग बिना ढाल . कई बार आप ने बड़े

Read more

5 सितम्बर- इस्लामिक आतंकियों से 400 प्राणों को बचा खुद के प्राण गंवा गयी नीरजा बलिदान दिवस. तब नारीशक्ति को महाशक्ति अमेरिका ने भी जोड़े थे हाथ

अक्सर प्रचार स्वरूप भले ही किसी को भारत की सबसे ताकतवर महिला का ख़िताब आज़ादी के बाद दिया जाता हो

Read more

4 सितम्बर – मेजर सत्यप्रकाश बलिदान दिवस. छाती छलनी थी LMG से, फिर भी संगीन से २ पाकिस्तानियों को मारा और अमर हो गये

भारत की आज़ादी का ठेका कोई भी किसी बहाने से ले पर भारत की अखंडता को बचाये रखने के लिए

Read more

3 सितम्बर- आहुति दिवस बाल वीरांगना कुमारी मैना. 1857 महायुद्ध में सबसे कम आयु की आहुति, मात्र 13 वर्ष… विचार कीजिए कि हमें आजादी कैसे मिली ?

इन वीरांगनाओं की आहुति को जान कर वो कौन होगा जो बिना खड्ग बिना ढाल वाले गाने को गायेगा .

Read more