PK जैसी फिल्मो के विरोध को अभिव्यक्ति की आज़ादी पर हमला बताने वालों ने बदले पैंतरे . मध्यप्रदेश में बैन हुई एक चर्चित फिल्म

कुछ समय पहले PK जैसी फिल्मो को बढ़ चढ़ कर प्रचारित किया गया था और लगातार हिन्दू विरोधी फिल्मो की श्रृंखला चलाई गयी थी . इस के विरोध में जब साधू संतों और हिन्दू समाज के लोगों ने प्रदर्शन किया तो उनको असहिष्णु बोला गया और इसको अभिव्यक्ति की आज़ादी पर हमला करने वाला बताया गया . लेकिन अब अचानक ही बदले से लग रहे हैं हिन्दू विरोध को बॉलीवुड में शाबाशी देने वाले कुछ लोगों के पैंतरे .

ज्ञात हो कि कांग्रेस शासित मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक फिल्म को बैन करवा दिया है .  संजय बारू की किताब द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर: द मेकिंग एंड अनमेकिंग ऑफ मनमोहन सिंह पर बनी फिल्म द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर को अब मध्य प्रदेश के लोग नहीं देख पायेंगे जिस से वहां की तमाम जनता में गहरी निराशा है .  कांग्रेस नेताओं की अगर माना जाय तो इस फिल्म को सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मनमोहन सिंह को बदनाम करने के लिए तैयार किया गया है .

कांग्रेस ने भले ही PK जैसी फिल्म पर कुछ भी नहीं बोला हो लेकिन अब वो इस फिल्म के विरोध में आ गये हैं और उन्होंने इसको फिल्म नहीं बल्कि एक बड़ा प्रोपोगेंडा बताया है। आगे ये बताया जा रहा है कि भविष्य में अन्य कांग्रेस शासित जैसे मध्य प्रदेश के अलावा पंजाब, राजस्थान और दूसरे कांग्रेस शासित राज्यों में भी फिल्म को बैन किया जा सकता है। कांग्रेस नेता पीएल पुनिया ने कहा कि साफ है ये भाजपा के इशारे पर बनाई गई फिल्म है। पुनिया ने कहा, ‘द ऐक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर मूवी का ट्रेलर बीजेपी हैंडल से ट्वीट किया गया। यह बीजेपी का गेम है। वे जानते हैं कि पांच साल पूरे होने को हैं और उनके पास जनता को बताने के लिए कुछ भी नहीं है।

Share This Post