बॉलीवुड से सुखद संकेत.. एक और आदाकारा ने छेड़ी हिन्दू और हिंदुत्व की आवाज

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड पिछले कुछ सालों में बदली बदली सी नजर आ रही है.. पिछले 1-2 सालों से बॉलीवुड से आध्यात्मिक राष्ट्रवाद तथा नैतिकता की जो आवाजें उठी हैं वो बेहद ही सुख संकेत है क्योंकि इससे पहले बॉलीवुड की सनातन विरोधी छबि बन गई थी, जहाँ हिन्दू आस्थाओं का मजाक उड़ाया जाता था. बॉलीवुड की ये बदली हुई छबि लोकसभा चुनाव 2019 में खुलकर दिखने लगी जब बीजेपी की आड़ में सनातन विरोधी कथित कलाकारों के खिलाफ बॉलीवुड से ही आवाजें बुलंद हुईं.

साध्वी प्रज्ञा को क्लीन चिट के बाद भी आतंकी कहता एक वर्ग फिर आया एक मार्मिक स्टोरी बना कर केरल से गिरफ्तार दुर्दांत ISIS आतंकी की

बॉलीवुड से उठी ऐसी ही एक आवाज है अभिनेत्री कंगना रनौत की. बॉलीवुड की मणिकर्णिका कही जाने वाली कंगना ने चौथे चरण की वोटिंग के दौरान मुंबई में मतदान किया. मतदान के बाद कंगना ने कांग्रेस को लेकर तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि आज भारत हर मायने में आजाद है. इटेलियन सरकार से भारत आजाद है.

सुरेश चव्हाणके जी की मुहिम बनी राष्ट्रीय मुद्दा,, शिवसेना ने पूरे भारत में बुर्का बैन की मांग की.. “राष्ट्र सर्वोपरि”

कंगना ने कहा कि आज का दिन बेहद महत्वपूर्ण है और यह पांच साल में एक बार आता है, इस दिन का इस्तेमाल हर किसी को करना चाहिए, मुझे लगता है कि सही मायने में भारत अब आजाद हो रहा है, इससे पहले हम कभी मुगल, कभी ब्रिटिश तो कभी इटैलियन गवर्नमेंट के गुलाम थे, मुझे लगता है कि आज हम मुक्त हैं, आप स्वराज का हक है, अपने मत का प्रयोग कीजिए, ये आपका हक है. कंगना ने आगे कहा कि हम सिर्फ शिकायतें करते रहते हैं, लेकिन कभी भी अपनी डिमांड नहीं बताते हैं. जो पॉलिटिशन हैं, वह कोई थिंकर, ऑथर या आर्टिस्ट नहीं हैं, वह सेवा करने वाले लोग हैं.

श्रीलंका के बाद निशाने पर था भारत.. NIA ने अब वो बताया जिसे पहले दिन से बता रहा है सुदर्शन न्यूज़

कंगना ने कहा कि हमें उनको बताना है कि हम चाहते क्या हैं. हमें वोट डालना चाहिए और देश को आगे बढ़ाने में सही रास्ता दिखाना चाहिए. कंगना ने कहा कि एक वक्त था जब हमारे राजनेता लंदन में आराम फरमाते थे और देश गरीबी, प्रदूषण की मार झेलता था. देश की क्या दुर्दशा कर दी थी. अब हमारे स्वराज और स्वधर्म का समय आया है. इसलिए हमें बड़ी संख्या में बाहर निकलकर भारत के लिए वोट करना चाहिए.

श्रीराम की जन्मभूमि पर आत्महत्या कर लेगा एक मुसलमान… अगर फिर से मोदी न आये तो

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post