अक्षय कुमार के हाथ भगवा ध्वज रास न आया कुछ कट्टरपंथियों को… अचानक ही टूट पड़े सोशल मीडिया से

बॉलीवुड का यदि कोई रियल किंग है तो वह है हिन्दू एक्टर अक्षय कुमार, जिन्होंने हमेशा देशभक्ति और सामाजिक हितों से जुड़ी फिल्मों में काम करके हिंदुस्तान के युवाओं का मार्गदर्शन किया है. बॉलीवुड के खानों को आपने कभी इस प्रकार की फिल्मों में नहीं देखा होगा. जादातर मुस्लिम एक्टर उन फिल्मों में काम करते है, जिनमें पाकिस्तान के प्रति हमदर्दी होती है.

मुस्लिम एक्टरों ने बॉलीवुड में हमेशा जिहाद फैलाया है, आमिर, सैफ, सारुख ये ऐसे एक्टर है जिन्होंने हिन्दू युवतियों से शादी कर जिहाद किया. लेकिन फिर भी इस देश के कुछ लोग इनकी वास्तविक मानसिकता को आज तक परख नहीं पाये. दिवाली का पर्व हिन्दुओं का पर्व है फिर भी इस दिन मुस्लिम अभिनेताओं की फिल्मे रिलीज होती है. क्या इस मुद्दे पर देश के हिन्दुओं को नहीं सोचना चाहिए? लेकिन देश के कुछ तथाकथित सेकुलरवादी और मंद्बुद्दी लोग अक्षय कुमार जैसे हिन्दू एक्टरों को भी ट्रोल करने से बांज नहीं आते.

अच्छा होता यदि ये लोग बॉलीवुड के उन एक्टरों को देश से बहार खदेड़ते जिन्होंने कहा था कि, यदि मोदी इस देश के प्रधानमन्त्री बन गये तो वे देश छोड़ देंगे.

दरअसल सोमवार को अक्षय डीयू के एक कॉलेज में वुमन मैराथन के आयोजन पर गये थे जहाँ उन्होंने इस मैराथन का समर्थन करते हुए अपने ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर शेयर की. तस्वीर में एबीवीपी का झंडा अपने हाथ में पकड़ते हुए फोटो के कैप्शन में उन्होंने लिखा कि ‘ये महिलाएं ‘महिला सशक्त‍ीकरण’ को आगे बढ़ा रही हैं, साथ ही टैक्स फ्री सेनिटरी पैड के लिए दौड़ रही हैं’.

एबीवीपी का झंडा अक्षय के हाथ में देखकर कुछ लोगों का अचानक bp बढ़ गया, जिसके बाद कुछ मंद बुद्धि लोगों ने उन्हें बेमतलब की नसीहत दे डाली. ऐसे लोग उन लोगों में आते है जो पाकिस्तान के झंडे पर लाइक मारते है. बॉलीवुड के हिन्दू अभिनेता अक्षय कुमार एक बार फिर लोगों में जागरूकता पैदा करने वाली फिल्म ‘पैडमैन’ लेकर आ रहे है. उनकी इस फिल्म का दर्शकों को बेसब्री से इन्तजार है, जिसका वे जमकर प्रमोशन कर रहे है, साथ ही माताओं, बहनों से गुजारिस करते नजर आ रहे है कि वे जरूर इस फिल्म को देखे और समाज को जागरूक करे. 

Share This Post