Breaking News:

पड़ोसी का मतलब क्या है, इसको खुलकर बतायेंगे महेश भट्ट ? किस पड़ोसी का नाम लिया उन्होंने ट्विटर पर और किसने दिया जवाब?

देश में लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार अपने चरम पर है तथा सियासी सरगर्मी बढ़ती जा रही है. पक्ष तथा विपक्ष दोनों तरफ के लोग जनता का वोट पाने के लिए जोर आजमाइश कर रहे हैं. इस बीच तमाम ऐसी मशहूर हस्तियाँ भी हैं जो अपनी पसंद की पार्टियों को वोट के लिए प्रत्यक्ष अपील कर रही हैं तो इसी आड़ में कुछ लोग अपने एजेंडे को फैलाने की कोशिश में भी लगे हुए हैं.

कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल पर लगा अब तक का सबसे सनसनीखेज आरोप.. शियाओं के बड़े नाम कल्बे जव्वाद ने मचाई सनसनी

इस बीच बॉलीवुड डायरेक्टर महेश भट्ट ने एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि अपने पड़ोसी से प्यार करना चाहिए. महेश भट्ट  ने अपने Twitter एकाउंट पर लिखाः ‘अपने पड़ोसी को अपनी ही तरह प्यार करो.’ महेश भट्ट ने एक वीडियो इस पोस्ट के साथ डाला था. महेश भट्ट ने ये तो कह दिया कि अपने पड़ोसी से अपनी ही तरह प्यार करो लेकिन ये नहीं बताये कि पड़ोसी का मतलब क्या है? आखिर वो पड़ोसी कौन है, जिससे महेश भट्ट प्यार करने को कह रहे हैं? कहीं वो पड़ोसी पाकिस्तान तो नहीं है? ये सवाल इसलिए खड़ा हो रहा है क्योंकि बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद देश के तमाम कथित मशहूर हस्तियों ने इस तरह  के बयान दिए थे कि पाकिस्तान के साथ तनाव न बढ़ाया जाए बल्कि बात की जाए.

बरेली में नाबालिग का सामूहिक बलात्कार.. दरिंदगी की दास्तान लिखने वाले का नाम कासिम

हालाँकि महेश भट्ट के इस ट्वीट पर बॉलीवुड के मशहूर प्रोड्यूसर अशोक पंडित ने आपत्ति जताई तथा उन्हें करारा जवाब दिया है. उन्होंने महेश भट्ट के ट्वीट को रिप्लाई किया और लिखा कि मैं औरंगजेब को गले नहीं लगा सकता. अशोक पंडित ने लिखा, ‘सर हम कई वर्षों से ऐसा करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन बदले में हमें मौत, बलात्कार और जबरन घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा.’ अशोक पंडित ने आगे लिखा, ‘कोई ऐसे पड़ोसी को कैसे प्यार कर सकता है जो आतंकी है और जिसने हमें नष्ट करने का फैसला कर लिया है? सिर्फ पड़ोसी होना ही प्यार का पात्र नहीं बनाता. मैं औरंगजेब को गले नहीं लगा सकता.’

कई हिन्दुओं के हत्यारे शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट ने भेजा था जेल, पर तेजस्वी यादव भी कहाँ पीछे हटने वाले थे.. उन्होंने निकाला नया रास्ता

Share This Post