Breaking News:

एक बार फिर राजा भैया के पिता और प्रतापगढ़ पुलिस हुई आमने सामने… छाबनी बना कुंडा जानिये क्या है पूरा मामला ?

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ का माहौल इस समय तनावपूर्ण बना हुआ है तथा प्रतापगढ़ की कुंडा सीट से निर्दलीय विधायक बाहुबली राजा भैया के पिता उदयप्रताप सिंह व प्रतापगढ़ पुलिस आमने सामने हैं. राजा भैया के पिता उदय प्रताप सिंह तथा प्रतापगढ़ पुलिस के बीच ठन गयी है.  स्थिति कितनी तनावपूर्ण है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि  मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के पिता उदय प्रताप को जिला प्रशासन ने नजर बंद कर दिया है. प्रशासन ने महल के चारों तरफ भारी पुलिस बल तैनात किया है.

आपको बता दें कि राजा भैया के पिता उदय प्रताप सिंह आज मोहर्रम के दिन भंडारा कराना चाहते थे लेकिन पुलिस प्रशासन ने इसकी इजाजत नहीं दी. प्रशासन का कहना है कि मोहर्रम का जुलूस निकलेगा और इसी दौरान कराए जाने से क्षेत्र का माहौल खराब हो सकता है. इसके बाद राजा भैया ने पिता ने एलान कर दिया है कि वह किसी भी हालात में भंडारा करायेंगे. उदय प्रताप सिंह ने कहा कि भंडारे से कभी माहौल ख़राब नहीं होता है इसलिए पुलिस कुछ भी कहे लेकिन वह भंडारा जरूर कराने वाले हैं. राजा भैया के पिता की इस घोषणा के बाद पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गये और पुलिस बल ने पूरे इलाके को एक छावनी के रूप में तब्दील कर दिया तथा उदय प्रताप सिंह को उनके ही महल में नजरबन्द कर दिया.

अपर पुलिस अधीक्षक (पश्चिमी) शिवजी शुक्ल ने बताया कि कुण्डा क्षेत्र के शेखपुर आशिक गाँव से आज मुहर्रम का जुलूस गुजरना था. राजा भैया के पिता कुंवर उदय प्रताप सिंह ने इसी गाँव के हनुमान मंदिर में मुहर्रम के दिन ही भंडारा कार्यक्रम आयोजित करने की योजना बनायी थी. उन्होंने बताया कि ऐन मुहर्रम के दिन इस नयी परम्परा के तहत भंडारा किये जाने से माहौल खराब होने की आशंका के मद्देनजर जिला प्रशासन ने इस आयोजन पर रोक लगाते हुए सिंह को उनके घर से बाहर निकलने पर रोक लगा दी. शुक्ल ने बताया कि त्यौहार को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए स्थानीय पुलिस बल के साथ पीएसी तैनात की गयी है. आपको बता दें कि रजा भैया के पिता हर साल भंडारा कराते थे लेकिन अदालती आदेश के बाद अखिलेश सरकार ने इस पर रोक लगाई थी जो अनवरत जारी है.

Share This Post