Breaking News:

उसके माँ बाप तो उसे मदरसे में पढने के लिए भेजते थे लेकिन मौलवी करता था कुछ और.. ये सब 6 महीने से चल रहा था


मदरसों के बारे में प्रचार किया जाता है कि मदरसों में बच्चों को संस्कार दिए जाते हैं, दीनी तालीम सिखाई जाती है. मदरसा को तालीम का पाक स्थल माना जाता है.. ये भी एक मदरसा था जहाँ पर बच्चों को ये कह कर भेजा जाता था कि वहां पर वो पढ़ाई करेंगे और उनको दीन आदि की तालीम मिलेगी. इसके लिए बाकायदा एक मौलाना नियुक्त था जिसको इलाके में सब बड़ा सम्मान दिया करते थे.उनको ये भी नहीं पता था कि उनके मासूम बच्चे बच्चियों के साथ वहां पर वो दानव क्या कर रहा है .

मदरसे का मौलवी असल में एक दरिंदा था जिसने मदरसे को कुकर्म का अड्डा बना डाला था और अब आखिरकार बेनकाब हो गया. उस 13 वर्षीय बच्ची के माँ-बाप भी उसको मदरसे में पढने के लिए भेजते थे लेकिन उनको नहीं पता था तालीम की आड़ में मदरसे का मौलाना 6 महीने से उनकी बच्ची के साथ अपनी हवस की भूख मिटा रहा है. मामला बिहार की राजधानी पटना का है जहाँ एक मदरसे का मौलवी पिछले छह महीने से किशोरी का रेप कर रहा था.

मामले का खुलासा तब हुआ जब किशोरी मदरसा जाने से इनकार करने लगी. कारण पूंछने पर बच्ची ने जो बताया उसे सुनकर घरवालों के पैरों तले जमीन खिसक गई. परिजनों ने मौलवी के खिलाफ थाने में केस दर्ज करवाया है. आरोपी मौलवी फरार बताया जा रहा है. शेखपुरा महिला पुलिस थाने की एसएचओ यशोदा कुमारी के मुताबिक, किशोरी और उसका छोटा भाई दोनों ही मदरसे में मौलवी से पढ़ने जाते थे. करीब छह महीने पहले मौलवी ने किशोरी को किसी चीज का लालच देकर पहली बार रेप किया. इसके बाद से वह लगातार उसके साथ दरिंदगी कर रहा था.

पिछले दिनों जब पीड़िता ने मदरसा जाने से इनकार किया तो मां-बाप से उससे वजह पूछी. पीड़िता रो पड़ी और अपने साथ हुई हैवानियत को बयां किया. उन्होंने थाने में मौलवी के खिलाफ केस दर्ज करवाया. शेखपुरा एसपी दयाशंकर ने बताया कि पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया गया है. आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है. पुलिस का कहना है कि आरोपी मौलवी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share