पुलिसकर्मियों के साथ खड़ा एक मुख्यमंत्री बोला- “मेरी भी 2 बेटियां हैं, कैसे कह दूं कि गलत किया पुलिसवालों ने?”


हैदराबाद की डॉ. दिशा का गैंगरेप व बर्बरतापूर्वक मर्डर करने वालों के एनकाउंटर के बाद देश में अभी भी चर्चाएँ जारी हैं. हैदराबाद पुलिस की इस कार्यवाई का जहाँ पूरा देश समर्थन कर रहा है वहीं तमाम कथित बुद्धिजीवी व मानवाधिकारी इसकी खिलाफत करते हुए हैदराबाद पुलिस को कटघरे में खडा कर रहे हैं. अब इस मुद्दे पर आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी के बड़ा बयान दिया है. मुख्यमंत्री जगनमोहन ने हैदराबाद एनकाउंटर का समर्थन किया है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन रेड्डी ने हैदराबाद एनकाउंटर पर तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और राज्‍य पुलिस की तारीफ की है. जगन मोहन ने हैदराबाद एनकाउंटर का विरोध करने को लेकर राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) को भी आड़े हाथ लिया. बता दें कि मुठभेड़ में मारे गए चारों आरोपियों ने 27 नवंबर को महिला डॉ. की गैंगरेप के बाद हत्‍या कर दी थी. इसके बाद शव को पेट्रोल और डीजल डालकर आग के हवाले कर दिया था. तेलंगाना पुलिस ने 48 घंटे के अंदर सभी आरोपियों को धर दबोचा था. इसके बाद 6 दिसंबर को चारों आरोपी पुलिस मुठभेड़ में मारे गए.

जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि ऐसे लोगों के एनकाउंटर की सिर्फ फिल्‍मों में ही तारीफ क्‍यों की जाए? आंध्र प्रदेश विधानसभा में दिए भाषण में उन्‍होंने कहा कि मैं भी दो बेटियों का पिता हूं. वेटेनरी डॉक्‍टर की गैंगरेप के बाद हत्‍या की घटना ने मुझे हिला दिया था. ए‍क पिता के तौर पर इस घटना पर मेरी प्रतिक्रिया क्‍या होनी चाहिए? माता-पिता को थोड़ी राहत देने को ऐसा घृणित अपराध करने वालों को क्‍या सजा दी जानी चाहिए. हमें ये सब भी सोचना चाहिए.

जगन मोहन ने कहा कि तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और राज्‍य पुलिस के अधिकारियों को सैल्‍यूट है. केसीआर ने सही काम किया है. मैं इस साहसी कदम के लिए तेलंगाना सरकार की तारीफ करता हूं. वहीं, एनएचआरसी के रवैये की आलोचना करते हुए उन्‍होंने कहा कि अगर फिल्‍मों के हीरो इस तरह के लोगों का एनकाउंटर करते हैं तो हम तालियां बजाते हैं. हम कहते हैं कि फिल्‍म बहुत अच्‍छी थी. अगर वास्‍तविक जीवन में कोई इस तरह का साहसी काम करता है तो दिल्‍ली से एनएचआरसी के नाम पर कुछ लोग आकर उसकी आलोचना करने लगते हैं. वे कहने लगते हैं कि ये गलत है. ऐसा नहीं होना चाहिए था. वे सवाल उठाने लगते हैं कि ऐसा क्‍यों किया गया? उन्होंने कहा कि मैं 2 बेटियों के पिता के तौर हैदराबाद पुलिस की कार्यवाई का समर्थन करता हूँ.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share