Breaking News:

आखिर वो कौन सी वजह थी जिसने बंटी को मजबूर कर दिया मुनव्वर और उसके परिवार के क़त्ल के लिए

प्रॉपर्टी डीलर मुनव्वर हसन मर्डर केस की मिस्ट्री अब सोल्व हो गयी है। वहीं, पुलिस ने आरोपी बंटी के बताये अनुसार मेरठ में काली नदी के पास खुदाई के दौरान तीन शव बरामद कर लिए है। दिल्ली के प्रॉपर्टी डीलर मुनव्वर हसन की हत्या के मामले में भू-माफिया बंटी को गिरफ्तार किया गया था। पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर समेत सभी 6 लोगों के शव बरामद कर लिए गए है।

दिल्ली पुलिस ने बंटी के साथ-साथ 4 लोगों को गिरफ्तार किया है, वही बंटी ने भी ये बात कबूल की है की उसने मुनव्वर और उसके परिवार वालों का क़त्ल करके अलग-अलग जगह पर दफनाया था। बता दें कि मुनव्वर की लाश को दिल्ली के बुराड़ी में उसके घर की पहली मंजिल पर बने कमरे से शनिवार को बरामद की गई थी। मुनव्वर के सिर में गोली मारी गई थी।

दरअसल, मुनव्वर का परिवार कई दिनों से लापता था, इसलिए वह पैरोल पर जेल से बाहर उन्हें तलाश करने आया था। मुनव्वर की हत्या के पीछे भू-माफिया बंटी का नाम सामने आ रहा था। खबर से पता चला कि बंटी और मुनव्वर एक साथ काम करते थे और बंटी ही मुनव्वर का बिजनेस पार्टनर हुआ करता था।

पैसों के लेन-देन को लेकर दोनों के बीच कुछ विवाद हो गया और इसी के चलते बंटी ने मुनव्वर का क़त्ल कर दिया। पुलिस के मुताबिक, बंटी ने पूछताछ में कबूल किया कि उसने 21 और 22 अप्रैल को मुनव्वर की पत्नी और बच्चों की मेरठ से हरिद्वार जाते वक़्त दुलारा नामक जगह पर हत्या करने के बाद जमीन में गाड़ दिया था।

पहले उसने मुनव्वर की पत्नी और दो बेटियों का कत्ल किया फिर उसने अगले दिन बुराड़ी इलाके में मुनव्वर के दो बेटों की हत्या कर उन्हें जमीन में गाड़ दिया। पुलिस पूछताछ में मुनव्वर की हत्या का राज भी खुल गया। बंटी के मुताबिक, उसने मुनव्वर को 20 लाख रुपये दिए और उसको लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। उसी के बाद उसने मुनव्वर को गोली मार कर मौत की नींद सुला दिया।

Share This Post