हिंसक वामपंथ व इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ भारतीय मीडिया की सबसे पहली और मुखर आवाज बना था सुरेश चव्हाणके जी का बिंदास बोल. #HBDsureshChavhanke - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

हिंसक वामपंथ व इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ भारतीय मीडिया की सबसे पहली और मुखर आवाज बना था सुरेश चव्हाणके जी का बिंदास बोल. #HBDsureshChavhanke


ज्यादा नही बस कुछ ही समय पहले की बात है जब TV की डिबेट में हर दिन किसी न किसी हिन्दू संत , किसी न किसी हिन्दू परम्परा पर घंटो बहस हुआ करती थी और घुमा फिरा कर केवल एक लक्ष्य हुआ करता था कि किस प्रकार से हिन्दू और हिंदुत्व को नीचा दिखा कर ये साबित किया जाय कि वो भारत की तुष्टिकरण की राजनीति के खांचे में पूरी तरह से घुले मिले हुए हैं और इसके लिए वो हिंदुत्व की बलि देने को तैयार हैं.

आज भी हिन्दू नाम तो दूर, देवी देवताओं के नाम रख कर हिन्दू और हिंदुत्व का विरोध करने वाले तथाकथित छात्रनेता और राजनेता आये दिन दिखाई देते हैं. यद्दपि देश की जागरूक जनता ने उसमे से कईयों को छांट कर अब संसद जैसी सर्वोच्च ताकत से दूर करना शुरू कर दिया है. लेकिन उनके असल रूप को दिखाने के लिए किया गया बहुत प्रयास और वो प्रयास शुरू हुआ था सुरेश चव्हाणके जी के बिंदास बोल से.

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

इसकी शुरुआत उस आतंकी जाकिर से हुई थी जिसके मंच पर दिग्विजय सिंह जैसे नेता जा कर गले मिला करते थे. इतना ही नही दुर्दांत ओवैसी कभी मीडिया का रोबिन हुड हुआ करता था उसको भी बिंदास बोल में बेनकाब किया गया. आज अगर मीडिया में ही नही बल्कि bollywood में आसानी से कोई साहस नहीं कर सकता हिन्दू और हिंदुत्व के खिलाफ बोलने का तो उसके पीछे हजारों बिंदास बोल की वो कड़ी है जिसको सुरेश चव्हाणके जी ने धारा के विपरीत शुरू किया था. हिंसक वामपंथ व् इस्लामिक आतंकवाद आगे भी बेनकाब होता रहेगा , आप सबके साथ व् सहयोग की आशा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share