अब “अरमान” के चलते धूं – धूं कर जली 19 साल की एक और लडकी.. क्या आरोपी का नाम सुन कर ख़ामोशी से निभाए जा रहे कथित सेकुलरिज्म के सिद्धांत ?


पिछले कुछ समय से उन्नाव पर केन्द्रित वो तमाम नाम और चेहरे अचानक ही ख़ामोशी की चादर में चले गये हैं क्योकि शायद इस बार आरोपी का नाम वो है जो उनके स्वघोषित व् स्वरचित सेकुलरिज्म के सिद्धांतो पर फिट नहीं बैठता है.. जाति स्थान और मत मजहब देख कर न्याय की गुहार लगाने वाले वो तमाम नामों का एक बार फिर से परीक्षण फेल रहा जो अब तक महिला के समान के कथित ठेकेदार बने घूम रहे थे.. आरोपी का नाम सुन कर उन सबने ख़ामोशी की चादर तान ली है.

असल में इस बार आरोपी का नाम अरमान है.. अभी हाल में ही मुज़फ्फरनगर उत्तर प्रदेश में कुछ समुदाय विशेष के लोगों द्वारा किये गये कृत्य को भी पर्दा डाल कर उन तमाम लोगों ने अपनी धर्मनिरपेक्षता का सबूत दिया था लेकिन अबकी घटना बिहार से है जहा के तेजस्वी यादव के नारी सम्मान पर सबसे जायदा ट्विट है. इस बार एक 19 साल की लड़की फिर से जिन्दा जल गई है जिसके साथ सम्बन्ध बना कर उसको गर्भवती करते हुए अरमान नाम के एक हवसी ने मरने पर मजबूर कर दिया.

बिहार के पश्चिमी चंपारण जिला के शिकारपुर थाना अंतर्गत मोहम्मदपुर गाँव में यौन शोषण किए जाने के बाद शादी से इंकार करने पर 19 वर्षीय एक युवती ने अपने शरीर पर मिट्टी तेल छिड़ककर स्वयं को जिंदा जलाने का प्रयास किया। युवती करीब 70 फीसदी झुलस गयी है. पुलिस अधीक्षक नताशा गुडिया ने बताया कि यह प्रेम प्रसंग का मामला है। युवती के साथ उसी के गाँव के अरमान नाम के व्यक्ति ने अनैतिक सम्बन्ध बनाये थे जिसके चलते वो एक महीने के गर्भ से है. पुलिस ने अरमान को गिरफ्तार भी कर लिया है लेकिन उसके खिलाफ मोर्चा खोलने वालों की संख्या नगण्य दिख रही है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share