रक्त से नहाया थाईलैंड.. मुस्लिम बहुल इलाके से निकलीं M- 16 रायफलें और निशाने बने पुलिस वाले भी.. अब तक 15 मरे


वो देश अपने पर्यटन के लिए विख्यात था और वहां हर किसी का स्वागत किया जाता था बिना उसकी जाति धर्म देखे .. अभी हाल में ही प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने उसी देश की यात्रा की थी और उस देश ने भारत के साथ मिल कर साथ व् सहयोग बढाने का संकल्प लिया था.. पर अचानक ही वहां जो कुछ भी होने लगा उसके बाद अब उस देश के वासी भी ये समझने पर मजबूर होते दिखाई दे रहे हैं की उनकी जीविका के लिए कुछ बड़े खतरे भी हैं जिनसे उन्हें पार पाना होगा..

ये देश है थाईलैंड जो समुद्र तक के किनारे बसा एक रमणीक स्थल है. यहाँ पर पहली बार M 16 बंदूके निकली हैं जो यहाँ की पुलिस के लिए भी नई हैं . अंधाधुंध गोलियां बरसाईं गई हैं जिसमे ताजा समाचार मिलने तक लगभग 15 मौतें हो चुकी हैं और कई अन्य घायल हो गये हैं जिनके इलाज़ स्थानीय अस्पतालों में चल रहे हैं.. घायलों में कई की हालत नाजुक है जिसके चलते मृतको की संख्या में बढ़ोत्तरी होने की सम्भावना जताई जा रही है . इस से पहले यूरोप और एशिया के कई देश ऐसे चरमपंथी हमलो से जूझ रहे हैं ..

इस बार थाईलैंड में जो आतंकी हमला हुआ है वो मुस्लिम बहुल इलाका कहा जाता है . यहाँ पर पुलिस वालों तक को निशाना बनाया गया है..अधिकारियों के अनुसार, सुरक्षा चौकी को हमलावरों द्वारा टारगेट बनाया गया था। इसमें हमले में चार सुरक्षाकर्मी भी जख्मी हुए हैं। पुलिस ने जब इन हमलावरों को पकड़ना के लिए आगे बढ़ी, तो इन आतंकियों ने बचने के लिए सड़क पर विस्फोटक और कीलें बिखेर दीं। थाईलैंड के दक्षिणी सेना के प्रवक्ता प्रमोत प्रोम-इन ने बताया है कि पिछले कुछ वर्षों में यह देश में हुई सबसे बड़ी फायरिंग की घटना है। ये घटना थाईलैंड के दक्षिणी हिस्से याला प्रान्त की है..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...