ईरानी गिरोह के वो अपराधी बन जाया करते थे पुलिस वाला.. फिर बदनाम होते थे समाज के रक्षक उनके कुकृत्यों से


ईरानी गिरोह ने अपने काले कारनामों को अंजाम देने का बहुत ही शातिर तरीका निकाला था. अपराध करने के लिए ईरानी गिरोह के सदस्य पुलिसवाला बन जाते थे तथा इसके बाद अपराध को अंजाम देते थे. ये कुकृत्य करने वाले तो ईरानी गिरोह के अपराधी थे लेकिन इसके कारण बदनाम होते थे समाज के रक्षक असली पुलिस वाले. मामला देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरियाणा के शहर गुरुग्राम का है जहाँ पुलिसकर्मी बनकर जांच के नाम पर विदेशी नागरिकों को डराकर उनसे डॉलर ठगने वाले ईरानी गिरोह के दो बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

सहायक पुलिस आयुक्त प्रीतपाल सांगवान के मुताबिक, बदमाशों से पूछताछ की जा रही है जिसमें कई मामलों के खुलासे हो सकते हैं. ये बदमाश दिल्ली-एनसीआर में कई वारदात को अंजाम दे चुके हैं। गुरुग्राम में 12 केस सामने आ चुके हैं. बता दें कि बीते 4 माह में शहर में विदेशी नागरिकों से ठगी के एक दर्जन से अधिक मामले सामने आने के बाद पुलिस भी सतर्क हो गई थी. किसी गिरोह के होने की आशंका के मद्देनजर पुलिस की कई टीमें जांच में जुटी हुई थी.

इसके बाद पुलिस की अपराध शाखा सेक्टर-40 की टीम ने तकनीकी जानकारी के आधार पर दिल्ली के लाजपत नगर से दो ईरानी नागरिकों को पकड़ा. इनकी पहचान ईरान के तेहरान निवासी तैय्यब पुत्र हुसैन (59) व अहसान पुत्र रेजा (33) के रूप में हुई. पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि गिरोह में 12 से 14 बदमाश है, जो दिल्ली में रहकर एनसीआर के शहरों में विदेशी नागरिकों को निशाना बनाते थे. पकड़े गए बदमाश 10 नवंबर को भारत आए थे.

पुलिस को पता चला है कि ईरानी गिरोह के इन बदमाशों ने 26 नवंबर को गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में इलाज के लिए आए तुर्कीस्तानी युवक से नकली पुलिसकर्मी बनकर दो हजार डॉलर चोरी किए थे. एसीपी क्राइम प्रीतपाल सांगवान के मुताबिक, वारदात को अंजाम देकर वापस ईरान चले जाते थे. गिरफ्तार किए गए दोनों बदमाश भी वापस जाने की ही फिराक में थे इससे पहले इन्हें दबोच लिया. उन्होंने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में दुभाषिए की मदद ली जा रही है. जल्द ही इस मामले में कई और मामलों के खुलासे हो सकते हैं तथा गिरोह के बाकी सदस्यों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share