उत्तर प्रदेश में दंगाइयो के परिवारों से मिल रहीं प्रियंका गांधी से मायावती का ऐसा सवाल जिसे माना जा रहा राजनीति में बदलाव का संकेत


उत्तर प्रदेश के राजनैतिक घटनाक्रम में जिस प्रकार से प्रियंका गांधी से तूफानी इंट्री मारी थी उसको आगे बढाते हुए उन्होंने CAA विरोध में भी अपनी धमाकेदार उपस्थिति देते हुए इतना मामले को आगे बढाया कि खुद संयुक्त राष्ट्र के महासचिव तक ने भारत को मुसलमानों के प्रति नरमी बरतने की सलाह दे डाली. प्रियंका गांधी के सुर में समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने भी सुर में सुर मिला डाले और ऐसा माना जा रहा था कि बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती भी उनके साथ खड़ी होंगी.

लेकिन आख़िरकार ये बातें अब विराम लगने योग्य दिखाई देने लगी हैं क्योकि मायावती ने प्रियंका गांधी के उत्तर प्रदेश दौरे को कटघरे में खड़ा करते हुए सवालों की झड़ी लगा दी.. मायावती ने प्रियंका गांधी के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए सवालों की झड़ी लगा दी है और पूछा है कि वो अपनी पार्टी कांग्रेस से शासित राजस्थान कब जायेगी जहाँ के अस्पतालों में बच्चे लगातार बीमारियों से मर रहे हैं. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इन मौतों के चलते पहले से पूरे देश में विपक्षी पार्टियों ने निशाने पर हैं.

अब इसी में मायावती ने प्रियंका गांधी को भी शामिल कर लिया. मायावती ने अपनी ट्वीट में प्रियंका गांधी का नाम सीधे-सीधे नहीं लिया लेकिन, उन्होंने ‘कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय महासचिव’ का ज़िक्र किया है. उन्होंने लिखा कि “कांग्रेस शासित राजस्थान के कोटा ज़िले में हाल ही में लगभग 100 मासूम बच्चों की मौत से मांओं का गोद उजड़ना अति-दुःखद व दर्दनाक है. तो भी वहाँ के सीएम गहलोत स्वयं व उनकी सरकार इसके प्रति अभी भी उदासीन, असंवेदनशील व गैर-ज़िम्मेदार बने हुए हैं, जो अति-निन्दनीय.”


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share