एक ऐसा मामला जहाँ फिर साथ आ रहे हैं शिवसेना और बीजेपी.. हिंदूवादियों में फिर उम्मीद की किरण


देश में इस समय नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर हंगामा मचा हुआ है. कई राज्यों के मुख्यमंत्री कर चुके हैं कि संसद के दोनों सदनों से पास होने के बाद भी वह नागरिकता बिल को अपने राज्य में लागू नहीं करेगी, जिसमें कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं. महाराष्ट्र कांग्रेस नेता तथा उद्धव ठाकरे सरकार में मंत्री नितिन राउत ने एलान कर दिया है कि वह महाराष्ट्र में भी बिल को लागू नहीं होने देंगे. इसके बाद लोग शिवसेना से सवाल कर रहे हैं कि क्या वह सत्ता के लिए कांग्रेस के आगे झुकेगी या फिर हिन्दू शरणार्थियों के लिए सत्ता से आगे का भी सोचेगी.

इसी सियासी घमासान के बीच बीजेपी की तरफ से ऐसा बयान दिया गया है, जिसे हिन्दूवादियों की बांछें खिल गई हैं. भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता आशीष शेलार ने कहा कि अगर शिवसेना को अपने सहयोगी कांग्रेस व एनसीपी के साथ नागरिकता संशोधन अधिनियम को लागू करने में समस्याओं का सामना करना पड़ा तो शिवसेना को चिंता करने की जरूरत नहीं है. हम देश के लिए महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ कोई भी राजनीतिक समझौता करने के लिए तैयार है. इसके बाद उम्मीद लगाई जा रही है कि शायद बीजेपी व शिवसेना पुनः एक साथ आ सकते हैं.

पूर्व मंत्री तथा बीजेपी नेता आशीष शेलार ने नासिक में शनिवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लिए राष्ट्र हर चीज पर ऊपर है और नागरिकता संशोधन विधेयक को लागू करना देश और महाराष्ट्र के हितों के लिए अति आवश्यक है. शेलार ने मीडियाकर्मियों से कहा, “महाराष्ट्र और देश के अन्य हिस्सों में कई पाकिस्तानी और बांग्लादेशी अवैध प्रवासी रहते हैं. हम मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से तुरंत सीएए को लागू करने का आह्वान करते हैं.”

यह पूछे जाने पर कि क्या आप इस महा मुद्दे पर विकास अघाडी सरकार से शिवसेना को नाता तोड़ लेने को कहेंगे, शेलार ने कहा कि अगर एनसीपी और कांग्रेस किसी तरह की बाधा उत्पन्न न करे भाजपा सभी समायोजन करने के लिए तैयार है. शेलार ने शिवसेना से आग्रह किया, “अपनी सरकार को बचाने की चिंता न करें. अगर आप CAB के लिए सरकार से बाहर चले आते हैं तो हम आपस में चर्चा कर सकते हैं और समझौता कर सकते हैं. किसी से डरें नहीं, उन्हें अपनी असली ताकत दिखाएं.”

आशीष शेलार ने कहा, “अपनी सरकार को बचाने के लिए शिवसेना को राष्ट्रीय हितों का त्याग नहीं करना चाहिए.” शेलार ने दावा किया कि भाजपा की कभी सत्ता की राजनीति में दिलचस्पी नहीं रही है, बल्कि इसने केवल राष्ट्रीय हितों के लिए काम किया है. इसी दिशा में नागरिकता बिल को महाराष्ट्र में लागू किया जाना चाहिए, हम शिवसेना का साथ देंगे.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share