न्याय को जीवन का सिद्धांत बना लेने वाले IPS आकाश तोमर का जन्मदिन मनाया गया सादगी से. वर्तमान बाराबंकी पुलिस अधीक्षक ने हर कहीं छोड़ी है अपनी अमिट छाप


आज जन्मदिन है उस जांबाज़ और कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी का जिसके अब तक के संक्षिप्त पुलिस कैरियर से न सिर्फ पुलिस में कार्य करने के इच्छुक अभ्यर्थी प्रेरणा ले सकते हैं बल्कि पुलिस विभाग में कार्य कर रहे अधिकारी भी बहुत कुछ सीख सकते हैं.. भारी दबाव हो या किसी प्रकार का विभागीय तनाव , उसके बाद भी अपने चेहरे पर मुस्कान रखते हुए हर कार्य को हंस कर करना और जनता के ऊपर किसी भी प्रकार का कोई नकारात्मक असर न जाना इस पुलिस अधिकारी की प्रमुख खूबी है..

यहाँ बात हो रही है वर्तमान समय में बाराबंकी पुलिस की कमान सम्भाल रहे IPS श्री आकाश तोमर जी की.. युवा और ऊर्जावान पुलिस अधिकारी आकश तोमर का अब तक का बेहद संक्षिप्त पुलिस कैरियर भी अपने आप में एक मिसाल है न सिर्फ विभाग के लिए बल्कि आम जनता के लिए.. किसी पद और प्रतिष्ठा को पा कर भी सौम्यता कैसे बनाये रखनी है इसको इनसे मिल कर बेहतर ढंग से समझा जा सकता है. इसके सबसे बड़े गवाह वो लोग हैं जहाँ पर आकश तोमर कार्यरत रह चुके हैं..

बतौर SP सिटी रहे गाजियाबाद में इनके कार्यों ने समाज के हर वर्ग में छिपे सफेदपोश अपराधियों को निकाल कर कानून के कटघरे में खड़ा कर दिया था.. एक फिल्म “जिला गाजियाबाद” में जिस प्रकार से गाजियाबाद जनपद की नकारात्मक छवि पेश की गई थी उसके एकदम उलट गाजियाबाद में अमन चैन व् शांति को इन्होने जमीनी स्तर पर स्थापित किया था जो इनके बाद आने वाले पुलिस अधिकारियों को सम्भालने में काफी सहायक हुआ था.. इन्हें DGP के औचक निरीक्षण में भी 100 में 100 नम्बर मिले थे..

अमूमन समाज के हर वर्ग को खुश करना व् उनको साथ ले कर चलना बेहद मुश्किल काम होता है . समाज के वर्गों में छात्र वर्ग , व्यापारी वर्ग , नौकरी पेशा लोग , बुद्धिजीवी , सैनिक , श्रमिक या अन्य इन सबको एक साथ साध कर कैसा चला जा सकता है इसको बाराबंकी जनपद में जा कर आराम से देखा जा सकता है.. भय केवल और केवल एक वर्ग में दिखेगा और वो वर्ग है अपराधी वर्ग और अपराधी वर्ग के चेहरे पर भय के चलते बाकी अन्य सभी वर्गो के चेहरे पर मुस्कान दिखेगी जिसका श्रेय आकाश तोमर को ही जाता है..

अगर जनता और खुद इनके पुलिस विभाग से हट कर बात की जाय तो जनता के प्रतिनिधियों में इनकी छवि कितनी बेहतर और अच्छी है इसका अंदाजा केवल इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले रक्षा बंधन के दिन बाराबंकी से लगभग 200 किलोमीटर दूर टांडा अम्बेडकरनगर विधानसभा की भारतीय जनता पार्टी से विधायक संजू देवी जी इन्हें राखी बाँधने खुद चल कर आई थी और इन्हें एक बड़ी बहन के रूप में यशस्वी होने का आशीर्वाद दिया था..

अगर इनके पुलिसिया पहलू की तरफ देखा जाय तो अपराधियों में इस सौम्य चेहरे का भय कायम रहता है.. जीवंत उदहारण इनकी पूर्व तैनाती स्थल संतकबीर नगर से जाना जा सकता है जो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृहजनपद का पड़ोसी जिला है.. यहाँ पर इन्होने एक भी कार्य ऐसा नहीं होने दिया जो कभी शासन या प्रशासन के लिए जवाबदेह कहा जाता.. संतकबीर नगर की जनता आज भी इनके वर्दी में किये गये सत्कर्म याद कर के भावुक हो जाया करती है..

अगर इनके वर्तमान तैनाती स्थल बाराबंकी के बारे में बात की जाय तो ये और चुनौतीपूर्ण स्थान है क्योकि ये उत्तर प्रदेश की राजधानी से सटा हुआ जिला है.. बहुत पहले की बात हुआ करती थी कि राजधानी लखनऊ में बड़े काण्ड कर के अपराधी भागने के लिए बाराबंकी का रास्ता चुना करते थे.. लेकिन अब ये सब पूरी तरह से खत्म हो चुका है क्योकि उनको आकाश तोमर ये एहसास दिला चुके हैं कि अपराध और अपराधी के लिए जिला बाराबंकी किसी लक्ष्मण रेखा से कम नहीं है..

अगर इनके कैरियर के बारे में जाना जाय तो वो पूरी तरह से निष्कलंक है जिसमे किसी पर अत्याचार या किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार का बिंदु मात्र भी दाग नहीं है.. इनकी सबसे बड़ी विशेषता ये है कि इनके सेनापतित्व में पुलिसकर्मी भी खुद को तनावमुक्त महसूस करते हैं और तनाव से मुक्त वही माहौल एक सुरक्षित बाराबंकी का निर्माण कर चुका है.. फिलहाल आज जन्मदिन पर IPS श्री आकाश तोमर जी को हार्दिक शुभकामनायें व् उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए ईश्वर से प्रार्थना..

रिपोर्ट –

राहुल पाण्डेय 

सुदर्शन न्यूज – नोएडा मुख्यालय

मो – 9598805228

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share