Breaking News:

महाराष्ट्र का डिप्टी सीएम बनते ही चमकी अजित पवार की किस्मत.. सिचाई घोटाले में मिली क्लीन चिट


महाराष्ट्र में चल रही सियासी उठापटक के बीच राज्य के नए नवेले डिप्टी सीएम अजित पवार को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. खबर के मुताबिक़, 2 दिन पहले ही महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले अजित पवार को  राज्य की एंटी करप्शन ब्यूरो(ACB)  की तरफ से बड़ी राहत मिली है. एंटी करप्शन ब्यूरो(ACB) ने सिचाई घोटाले में डिप्टी सीएम अजित पवार को क्लीन चिट दी है. बता दें कि सिचाई घोटाला करीब 70 हजार करोड़ रूपये का था, जिसमें अजित पवार आरोपी थी, जिन्हें अब क्लीन चिट मिल गई है.

ज्ञात हो कि अजित पवार ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के साथ 2 दिन पहले ही राज्य के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी.  इसके बाद से ही  राज्य की सियासत में हड़कंप मचा हुआ है. सत्ता की खींचतान के बीच अब ACB की क्लीन  चिट मिलने के बाद डिप्टी सीएम अजित पवार जरूर राहत महसूस कर  रहे होंगे. ऐसा इसलिए क्योंकि सिचाई घोटाले का जिन्न लंबे समय से अजित पवार से चिपका हुआ था. महाराष्ट्र में हुए करीब 70 हजार करोड़ के कथित सिंचाई घोटाले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने नवंंबर 2018 में पूर्व उप मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार को जिम्मेदार ठहराया था.

अब ACB ने इस मामले में अजित पवार को क्लीन चिट दे दी है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़, सिचाई घोटाले की जांच जारी रहेगी लेकिन इसमें अजित पवार के खिलाफ कुछ भी नहीं मिला है. ACB ने कहा है कि सिचाई घोटाले की फाइल बंद नहीं की गई है बल्कि जांच जारी है. हाँ,  9 मामलों में अजित पवार के खिलाफ कुछ गलत नहीं मिला है तथा उनको क्लीन चिट दे दी गई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share