इस बार खुद वामपंथी नेता को उठा ले गए नक्सली.. लाल सलाम कहने वाला परिवार अब जयहिंद कहने वाले पुलिसकर्मियों की शरण में


न तो उस वामपंथी नेता और न ही उस वामपंथी नेता के परिजनों ने ऐसा कभी सोचा होगा कि जिस लाल सलाम के नारे के साथ वह अपनी राजनीति करते रहे हैं, नक्सलियों को बढ़ावा देते रहे हैं, वही नक्सली एक दिन उनके ही दुश्मन बन जायेंगे. वो वामपंथी नेता भी लाल सलाम बोलता था तथा नक्सली भी लाल सलाम बोलते थे. अब इस वामपंथी नेता को ही नक्सली उठा ले गए हैं. इसके बाद लाल सलाम बोलने वाले इस नेता का परिवार जय हिन्द बोलने वाले पुलिसकर्मियों में शरण में पहुंचा है.

मामला बिहार के लखीसराय जिले का है जहाँ के पीरीबाजार थाना क्षेत्र के चौरा राजपुर पंचायत अंतर्गत घोघी गांव के रहने वाले सीपीआई नेता मदन मोहन को नक्सलियों ने शुक्रवार 6 दिसंबर को अगवा कर लिया. मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर शाम वामपंथी नेता मदन मोहन अपने घर में टीवी देख रहे थे तथा उनकी पत्नी बगल के घर में गयी हुई थी. इसी दौरान दो बाइक पर पांच की संख्या में हथियाबंद पहुंचे नक्सलियों में से एक ने उन दरवाजा खटखटाया.

दरवाजा खोलने के बाद अन्य नक्सलियों ने हथियार के बल पर मदन मोहन को पकड़ लिया. इस दौरान विरोध करने पर नक्सलियों ने उनके साथ मारपीट भी की. उसके बाद एक बाइक पर सवार दो नक्सलियों ने श्री सिंह को बाइक के बीच में बिठाकर जंगल की ओर निकल गये. घटना की जानकारी मिलते ही कजरा नरोत्तमपुर सीआरपीएफ कैंप से सीआरपीएफ की टुकरी सहित पीरीबाजार थाना की पुलिस श्री सिंह की खोज में नक्सल प्रभावित क्षेत्र में सर्च ऑपरेशन में जुट गयी.

इसके बाद मुंगेर प्रक्षेत्र के डीआइजी मनु महाराज सहित पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार, एएसपी अभियान पवन कुमार उपाध्याय अगवा किये गये श्री सिंह के घर पहुंच मामले की पूरी जानकारी ली. नक्सलियों द्वारा अगवा किये गए वामपंथी नेता के परिजनों से मदन मोहन को वापस लाने की गुहार लगाई है. घटना को लेकर डीआइजी मनु महाराज ने कहा कि घटना को लेकर छापेमारी जारी है. जल्द ही मदन मोहन को सकुशल बरामद कर लिया जायेगा. उन्होंने बताया कि कुछ लोगों से पूछताछ भी की जा रही है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share