इस बार हैदराबाद पुलिस को संज्ञा दी तालिबान की.. वो पार्टी जो चाह रही है भारत की सत्ता


ये बयान उस राजनैतिक पार्टी के नेता का है जो खुद को देश की आजादी का ठेकेदार बताती है तथा देश की आजादी के बाद से करीब 60 वर्ष तक इस पार्टी ने देश की सत्ता संभाली है. फिलहाल ये पार्टी पिछले 6 सालों से देश की सत्ता से दूर है तो वह दोबारा से सत्ता में आने के तमाम प्रयास कर रही है. लेकिन जरा सोचिये कि जिस पार्टी ने करीब 6 दशक तक देश की बागडोर संभाली हो तथा एक बार फिर सत्ता में आने को लालायित हो, उस पार्टी का कद्दावर नेता अपने ही देश की पुलिस की तुलना दुर्दानत इस्लामिक आतंकी दल तालिबान से कर रहा है.

हम बात कर रहे हैं कांग्रेस पार्टी की जिसके सीनियर नेता कपिल सिब्बल ने हैदराबाद की महिला डॉ. के दरिंदों का एनकाउंटर करने वाली हैदराबाद पुलिस की बहादुरी तथा शौर्य को तालिबान की संज्ञा दी है. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के साथ बलात्कार और हत्या के आरोपियों के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने की घटना को लेकर कहा है कि तालिबान शैली वाले न्याय से अदालतें अप्रासंगिक हो जाएंगी.

कपिल सिब्बल ने ट्वीट करते हुए कहा कि तेलंगाना मुठभेड़ पर वाहवाही कर रहे लोगों से कहना चाहता हूं कि उचित कानूनी प्रक्रिया अपनाने की बजाय खून का बदला खून का रास्ता अपनाने और तालिबान शैली वाले न्याय से अदालतें अप्रासंगिक हो जाएंगी. आज जब हैदराबाद पुलिस ने उनके हथियार छीनकर, पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश करने वाले दरिंदों को मार गिराया तो कपिल सिब्बल को हैदराबाद पुलिस तालिबान नजर आने लगी लेकिन जरा सोचिये कि अगर अपराधी पुलिस के शिंकजे से छूटकर भाग जाते तो क्या पुलिस को गालियां नहीं दी जातीं? उस समय सिब्बल की प्रतिक्रया क्या होती.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share