रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, आतंकवाद जैसे मुद्दों पर हम दुनिया को यह समझाने में सफल रहे हैं कि आतंकवाद सभी के लिए आतंकवाद है..

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि आतंकवाद जैसे मुद्दों पर हम दुनिया को यह समझाने में सफल रहे हैं कि आतंकवाद सभी के लिए आतंकवाद ही है. हमलोगों ने पूरे विश्व को कहा कि आतंकवाद के लिए जीरो टॉलरेन्स की नीति अपनाई जाएगी, इसके अलावा कुछ भी स्वीकार नहीं किया जायेगा. ऐसे लोग जिन्होंने आतंकवाद को बढ़ाने में मदद की, सालों तक परोक्ष रूप से इसका समर्थन किया है, अब लोकतांत्रिक व्यवस्था में शामिल होना चाहते हैं.

रक्षामंत्री ने कहा कि जब मिसाइल तकनीक की बात आती है तो कभी-कभी लोग मिसाइल प्रौद्योगिकी के विकास में देश की आक्रामकता देखना चाहते हैं. हमारे पड़ोसी अपने मिसाइल का नाम बाबर, घोरी, गजनवी के नाम पर रखते हैं. ऐसा इसलिए ताकि पाकिस्तान आक्रामकता को प्रोजेक्ट कर सके.

राजनाथ सिंह हैदराबाद पहुंचे हुए थे, जहां उन्होंने एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया और वहीं पर उन्होंने यह बात कही कि भारत में अन्य देशों पर हमला करने के लिए रक्षा बलों को नहीं बनाया गया है. हमारी सेनाएं क्षेत्रीय, महाद्वीप और वैश्विक स्तर पर शांति स्थिरता के लिए काम करती है. यहां मिसाइलों का नाम पृथ्वी, आकाश, अग्नि, त्रिशूल, ब्रह्मोस रखा गया है.

इससे पहले 20 जुलाई को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भारत के सैन्य अभियान ‘ऑपरेशन विजय’ की 20वीं वर्षगांठ पर को जम्मू कश्मीर के दौरे पर गए थे और वह पर एक कार्यक्रम के दौरान राजनाथ सिंह ने कहा था कि, यदि कोई बातचीत से हल नहीं चाहता है तो फिर हमें पता है कि हालात को किस तरह से संभालना है. उन्होंने कहा कि, जल्द से जल्द कश्मीर समस्या का हल होना जरुरी है.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW