क्या आपको भी है माइग्रेन का दर्द, तो अपनाइये ये योग आसान…

आज कल हम सभी अपने काम को इतनी ज्यादा अहमीयत देने लगे है कि ये हमारी सेहत के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है। हमें कई सारी बीमारियां घेरने लगी है, जिसमें से एक माइग्रेन भी है। माइग्रेन का दर्द हम सभी के लिए बहुत दर्दनायक होता है। जिसमें असहनीय दर्द होता है। माइग्रेन की समस्या से हर तीसरा व्यक्ति पीड़ित है।

आज के दौर में हर उम्र के लोगों को माइग्रेन ने जकड़ रखा है। माइग्रेन एक तरह से सिर का रोग है। जिसमें लोगों को उल्टी आने के साथ-साथ आँखों के लाल व सूजन रहने की शिकायत रहती है। इन कुछ योगासन को अपनी दिनचर्या में अपनाने से आप माइग्रेन की समस्या से बच जा सकते है।

माइग्रेन जैसे असहनीय दर्द से बचने के लिए हम आपके लिए कुछ ऐसे योग आसन लाये है। जिन्हें करने से आपको माइग्रेन की समस्या से रहत मिलेगी।

1. वीरासन – इस आसन में अपने घुटनों के बल पर बैठकर अपनी कमर को आगे की और झुकाते हुए सिर को जमीन पर रखें और हाथों को सीधे करके जमीन पर रखें। एक महीने तक ऐसा करने पर माइग्रेन के दर्द में आराम मिलेगा।

2. पश्मिोत्तानासन – इसमें सीधे बैठ कर टांगों को आगे की तरफ सीधा रखें और पैरों को अपनी तरफ रखें। अब अपनी कमर को आगे की तरफ झुकाते हुए अपने सिर को घुटनों पर रखें और हाथों से अपने पैरों को पकड़े। इस आसन में 1 से 2 मिनट रहें और 3 से 4 बार इसे दोहराएं।

3. उत्तनासन – इस आसन में सबसे पहले सीधे खड़े हों, उसके बाद आगे की तरफ झुककर टांगो में सिर को टिकाते हुए हाथों को जमीन पर टिकाएं।

4. श्वासन- इस आसन में कमर के बल लेट जाएं। पैरों को बाहर की तरफ कर लें। हाथों का शरीर से 30 डिग्री के कोण होना चाहिए। आंखें बंद रखें और दिमाग को शांत रखें।

5. अधो-मुख शवासन – इस आसन में अपने शरीर को ‘V’ के शेप में रखना होता है। टांगों और कमर को 90 डिग्री के कोण में रखें। अपने हाथों को जमीन पर रख कर अपनी अंगुलियों को फैला कर रखें। सिर को छाती की तरफ झुकाएं। इस मुद्रा में 1 से 2 मिनट रहें और 3 से 4 बार इसे दोहराएं.

6. उर्ध्व-मुखा श्वासना – इस आसन में छाती के बल पहले शरीर को खींचते हुए लेट जाएं। फिर कमर के हिस्से से हाथों के सहारे आगे की ओर ऊपर उठें और गर्दन को भी ऊपर की खींचें।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW