वो कौन सी वजह थी जिसके चलते महिला टीचर ने मुंडवा लिए अपने केश और भिजवा दिए राहुल गांधी को

वो कौन सी वजह थी जिसके चलते महिला टीचर ने मुंडवा लिए अपने केश और भिजवा दिए राहुल गांधी को


मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में 70 से ज्यादा दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठे अतिथि विद्वानों में से एक महिला अतिथि विद्वान ने बुधवार को वो किया जो राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के लिए बेहद ही शर्मनाक है. खबर के मुताबिक़, बुधवार दोपहर को धरना दे रही एक महिला अतिथि विद्वान ने अपने केश त्यागते हुए सार्वजनिक रूप से खुद का मुंडन करवा लिया तथा अपने केश राहुल गांधी को भेज दिए. मुंडन करवाने वाली महिला अतिथि विद्वान का नाम डॉक्टर शाहीन खान है.

शाहीन खान मुंडन करवाने के बाद मीडिया के सामने आईं तथा भावुक होते हुए कहा कि चुनाव के बाद अतिथि विद्वानों से कांग्रेस ने वादा किया था कि सरकार बनने पर हमारी मांगों को पूरा किया जाएगा. हमने साल भर तक इंतजार किया और उसके बाद ही हमने जब आंदोलन शुरू किया तो अतिथि विद्वानों को फालेन आउट नोटिस मिलना शुरू हो गए. हम यहां दो महीने से ठंड में धरना दे रहे हैं, लेकिन सरकार ने हमारी कोई सुध नहीं ली.

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

उन्होंने कहा कि हमने बच्चों को पढ़ाकर उनका भविष्य बनाया लेकिन अब खुद हमारा भविष्य अंधकारमय है इसलिए यहां से लिखित आर्डर मिलने तक हम नहीं उठेंगे. अतिथि विद्वान नियमतिकरण संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष देवराज सिंह ने कहा कि इससे दुखदाई दिन अतिथि विद्वानों के लिए नहीं हो सकता, क्योंकि एक महिला ने अपने केश त्याग दिए. डॉक्टर शाहीन ने जो बाल मुंडवाए हैं उसे हम राहुल गांधी के पास भेजेंगे ताकि उन्हें पता चल सके कि उनके दिए गए वचन का यहां पालन नहीं हो रहा है. बता दें कि अपने नियमतिकरण की मांग को लेकर मध्य प्रदेश के अतिथि विद्वान 2 दिसंबर 2019 से आंदोलन कर रहे हैं जो अबतक जारी है


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share