Breaking News:

आखिरकार महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बन गई बात.. शिवसेना-NCP-कांग्रेस इस फ़ॉर्मूले के तहत बनायेंगे सरकार


आखिरकार महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर बात बन गई है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक़, शिवसेना, एनसीपी तथा कांग्रेस के बीच सरकार गठन को लेकर समझौता हो गया है. जानकारी मिली है कि इस समझौते के तहत शिवसेना को पूरे 5 कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री पद मिलेगा. कांग्रेस और एनसीपी का ढाई ढाई साल के लिए उपमुख्यमंत्री बनेगा.  तीनों ही दलों ने नेताओं ने कहा कि कॉमन मिनिमस प्रोग्राम के तहत सरकार गठन पर सहमति बन गई है.

इस बीच शिवसेना नेता तथा राज्यसभा सांसद संजय राउत ने फिर कहा कि मुख्यमंत्री तो हमारा ही होगा. 5 साल नहीं, हम चाहते हैं कि 25 साल तक शिवसेना का सीएम हो. शिवसेना बड़ी पार्टी है, हम 50 साल से महाराष्ट्र की राजनीति में सक्रिय हैं. संजय राउत ने कहा कि शिवसेना महाराष्ट्र के हित में काम करती रहेगी. महाराष्ट्र के निर्माण में कांग्रेस का भी योगदान रहा है. हम सभी को साथ में लेकर चलेंगे. उन्होंने कहा कि अब 5 साल नहीं बल्कि 25 साल के लिए शिवसेना का सीएम होगा.

शिवसेना-NCP-कांग्रेस के बीच सरकार गठन के लिए जो कॉमन मिनिमम प्रोग्राम(CMP) तय हुआ है उसके मुताबिक़, पूरे कार्यकाल के लिए जहाँ शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा तो वहीं एनसीपी तथा कांग्रेस को ढाई ढाई साल के लिए उपमुख्यमंत्री पद मिलेगा. इसके अलावा मंत्रिमंडल में 16-14-12 का फ़ॉर्मूला तय हुआ है, अर्थात शिवसेना के 16, एनसीपी के 14 तथा कांग्रेस के 12 मंत्री होंगे. सूत्रों के अनुसार, इस हफ्ते कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी नेता शरद पवार के बीच मुलाकात हो सकती है, जिसमें इस फ़ॉर्मूले पर मुहर लगेगी.

ये भी जानकारी मिली है कि तीनों दलों के बीच हुए समझौते में हिंदुत्व के मुद्दा को शामिल नहीं किया गया है. सीएमपी पर किसानों और युवाओं से जुड़े मामलों पर फोकस करने पर भी सहमति बनी है. कुछ मामले ऐसे हैं जिन पर आपसी रजामंदी नहीं बन सकी है. समझौते में वीर सावरकर को भारतरत्न देने की शिवसेना की मांग पर कांग्रेस राजी नहीं है,, इसलिए इसको कॉमन मिनिमम प्रोग्राम से बाहर रखा गया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share