आयुर्वेद के द्वारा कैसे बढ़ाये ब्रेन की शक्ति ?

हमारे
शरीर मे बहुत
बार शारीरिक और मानसिक दुर्बलता व
किसी लम्बी बीमारी के कारण मस्तिष्‍क पर प्रभाव पड़ता है और हमारी याद रखने की शक्ति
कम हो जाती है। लेकिन आयुर्वेद के द्वारा ब्रेन
की शक्ति को बढाया जा सकता है।

आयुर्वेद व ब्रेन

 

अगर हमारा शरीर एक
मंत्रालय है
, तो मस्तिष्‍क उसका
प्रधानमंत्री है। इसकी मर्जी के बिना शरीर का कोई भी हिस्‍सा सही प्रकार काम नहीं
कर सकता है। बहुत बार अधिक मानसिक परिश्रम व थकान
, पाचन
मे गड़बड़ी
, शारीरिक और मानसिक
दुर्बलता या किसी लम्बी बीमारी के कारण ब्रेन पर असर पड़ने लगता है और हमारी याद
रखने की शक्ति कम हो जाती है।

 

बादाम

बादाम मे आयरन, कॉपर, फास्फोरस
और विटामिन बी होता है। इसमे सभी औषधीय तत्व एक साथ क्रिया करते है।
बादाम ब्रेन व दिल और लीवर को ठीक से
काम करते रहने मे
सहायता करता है। मस्तिष्‍क
की शक्ति बढ़ाने के लिए पांच बादाम रात को पानी में भिगों दें। सुबह छिलके उतारकर
बारीक पीस कर पेस्ट बना लें। अब एक गिलास दूध और उसमें इस पेस्‍ट को और दो चम्मच
शहद को डालकर पी लें इससे आपको बहुत फायदा होता है।

 

ब्राह्मी

ब्राह्मी
दिमागी शक्ति बढ़ाने की मशहूर जड़ी-बूटी है।
  ब्राह्मी में एंटीऑक्सीडेंट  तत्व  होने के कारण नियमित सेवन से मस्तिष्‍क की शक्ति
बढऩे लगती है। इसका एक चम्मच रस रोज पीना फायदेमंद होता है। अगर आपको इसका रस पसंद
नहीं है तो आप इसको चबाकर भी खा सकते है इसके
सात पत्ते खाने से भी लाभ
मिलता है।

 

Share This Post