Breaking News:

कंधे पर लादकर गर्भवती महिला को अस्पताल ले गए CRPF के जवान.. जिसने भी देखा वही बोला- “जय हिंद की सेना”


यही कारण है कि लगभग हर भारतीय का सीना उस समय गर्व से चौड़ा हो जाता है जब वह सेना के जवानों के काफिले को गुजरते हुए देखता है. जब भी देश का सैनिक वर्दी में सामने आता है तो क्या बच्चे और क्या बुजुर्ग या फिर महिलायें.. सभी जवानों को सैल्यूट करते हुए नजर आते हैं क्योंकि वो सभी जानते हैं कि ये वो जवान हैं जो अपनी जान पर खेलकर हिंदुस्तान की तथा हिंदुस्तान के नागरिकों की रक्षा करते हैं. लेकिन अफ़सोस कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इसके बाद भी सेना के जवानों पर उंगलियां उठाते हैं. इसके बाद भी सेना के जवान हर भारतीय की सुरक्षा और मदद के लिए हर पल तैयार रहते हैं.

ताजा उदाहरण छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर का है जहाँ केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल CRPF के जवानों ने मंगलवार को छत्तीसगढ़ में एक गर्भवती महिला की सहायतार्थ वो किया, जिसे देख हर भारतीय का माथा सेना के सम्मान में झुक गया. CRPF के जवानों ने 6 किलोमीटर का रास्ता तय कर एक गर्भवती महिला को अस्पताल पहुंचाया. अंदरुनी इलाका होने के कारण यहां वाहन की व्यवस्था नहीं रहती. लिहाजा जवानों ने महिला को कंधे पर उठाया और एंबुलेंस तक पहुंचाया. वहां से महिला को तुरंत अस्पताल ले जाया गया.

जानकारी के मुताबिक, अस्पताल में महिला ने बच्चे को जन्म दिया है. मां और बच्चे की हालत स्थिर बताई जा रही है. फिलहाल महिला का जिला अस्पताल में जरूरत के मुताबिक इलाज किया जा रहा है. खबर के मुताबिक़, मंगलवार को बीजापुर इलाके में सीआरपीएफ की टीम पेट्रोलिंग कर रही थी. सर्चिंग के दौरान जवानों को घन जंगल में एक महिला मिली. महिला काफी बीमार थी और प्रसव पीड़ा से कराह रही थी. गांववालों को समझ में नहीं आ रहा था कि महिला को गांव से मुख्‍य सड़क तक कैसे पहुंचाया जाए.

दरअसल, गांव से मुख्‍य सड़क के बीच की दूरी लगभग 6 किलोमीटर है और रास्‍ता कच्‍चा. पक्‍का रास्‍ता न होने के कारण मुख्‍य सड़क से गांव तक जाने के लिए कोई वाहन भी उपलब्‍ध नहीं है. ऐसे में सीआरपीएफ के जवान इस गर्भवती महिला के लिए फरिस्‍ते बनकर पहुंचे. जवानों ने तुरंत ही एक चारपाई ली और उसमें रस्सी और बांस बांधकर उसे पालकी जैसा बना लिया. इसी पालकीनुमा चारपाई पर सीआरपीआएफ की टीम महिला को छह किलोमीटर तक ले गई और उसकी जान बचा ली. जैसे ही ये खबर सामने आई पूरा देश सेना के सम्मान में झुक गया तथा सोशल मीडिया पर CRPF के जवानों के इस महानतम कार्य के लिए उनको सैल्यूट किया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share