Breaking News:

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद वायुसेना के पूर्व प्रमुख ने दिया राफेल विरोधियों को जवाब


राफेल विमान सौदे की जांच को लेकर विपक्ष की सभी पुनर्विचार याचिकाओं को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज किया जाना जहाँ विपक्ष के लिए करारा झटका है तो वहीं इसे अपनी जीत बता रही है. निश्चित रूप से ये मोदी सरकार की जीत ही है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में राफेल सौदे की प्रक्रिया को क्लीन चिट दे दी है. इस बीच सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर पूर्व वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने बड़ा बयान दिया है.

इंडियन एयरफ़ोर्स के पूर्व प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा है कि अच्छा है कि ये विवाद खत्म हो गया. पूर्व वायुसेना प्रमुख ने कहा कि राजनीतिक कारणों के लिए ये पूरा विवाद पैदा किया गया था. उन्होंने कहा कि अगर आप रक्षा सौदों में विवाद पैदा करते हैं तो उससे रक्षा तैयारियों पर फर्क पड़ता है. बीएस धनोआ ने कहा कि रक्षा सौदों की जांच होनी चाहिए, लेकिन सीएजी और सुप्रीम कोर्ट की जांच के बाद भी अगर सवाल उठाया जाता है तो ठीक नहीं है.

धनोआ ने बताया कि यह स्वागतयोग्य फैसला है. इससे इस मामले में सरकार का रुख मजबूत हुआ. हम खुश हैं कि अंतत: ये विवाद दफन हुआ. यह विवाद राजनीतिक फायदे के लिए खड़ा किया गया था. वायुसेना के पूर्व प्रमुख ने कहा कि उन्होंने सौदे के गुणों और भारतीय वायुसेना की जरूरतों के लिहाज से इस सौदे का बचाव किया था. लोकसभा चुनावों के दौरान उनकी यह कहते हुए आलोचना भी की गई थी कि वह खरीद को लेकर राजनीतिक बयान दे रहे हैं.

पूर्व वायुसेना प्रमुख धनोआ ने कहा कि राफेल की जो कीमत तय हुई वो वायुसेना के अधिकारियों ने की. कीमत तय करने के लिए एक कमेटी थी और अधिकारियों का बचाव करना मेरी नैतिक जिम्मेदारी थी. उन्होंने कहा था कि यह सौदा पारदर्शी है और भरोसा जताया था कि उच्चतम न्यायालय के फैसले का वायुसेना,सेना और नौसेना द्वारा सैन्य मंचों पर खरीद के लिए सकारात्मक प्रभाव होगा. उन्होंने कहा, सशस्त्र बलों के लिए यह अच्छा फैसला है. शीर्ष रक्षा अधिकारियों के एक वर्ग का मानना है कि राफेल विवाद की वजह से कई प्रमुख सैन्य खरीद में विलंब हुआ है क्योंकि इनसे जुड़े अधिकारी आरोपों के कारण दबाव में हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share