Breaking News:

फिलिस्तीन में घुसकर मार रहा है इजराइल.. 34 आतंकियों को मारकर दुनिया को दिया एक साफ़ सन्देश


जैसे ही इजरायल की सेना के लड़ाकू विमानों ने आसमान में उड़ान भरी तथा आतंकी ठिकानों को निशाना बनाना शुरू किया, इस्लामिक जिहादी ग्रुप घुटनों के बल आ गया तथा संघर्ष विराम की गुहार लगाने लगा. जैसे ही इजराइली सेना ने फिलिस्तीनी उन्मादियों की लाशें बिछाई तो उसके खेमे में खलबली मच गई. इजराइल ने एक के बाद एक 34 इस्लामिक जिहादी ग्रुप के आतंकियों को मार गिराया तथा उन्हें घुटनों के बल ला दिया, जिससे वह संघर्ष विराम को मजबूर हो गये.

गाजा पट्टी से इस्लामिक जिहादी ग्रुप द्वारा इजरायल पर राकेट दागे जाने के बाद इजरायल भड़क उठा तथा फिर उसने वो किया जिसके लिए वह जाना जाता है. इस्राइल के सैन्य आंकड़ों के मुताबिक, इस्लामिक जिहाद आतंकी ठिकानों पर इस्राइल की एयरस्ट्राइक में अब तक 34 आतंकी  लोग मारे जा चुके हैं वहीं इस्राइल पर भी इस्लामिक जिहादी ग्रुप की तरफ से 350 रॉकेट दागे गए हैं, इसी के विरोध में इजरायल ने ये कार्यवाई की. इजरायल की जवाबी कार्यवाई में इस्लामिक जिहादी ग्रुप का कमांडर भी मारा गया.

इजरायल के खतरनाक रुख को देखते हुए इस्लामिक जिहादी समूह के प्रवक्ता मुसाब अल बेरिम ने संघर्ष विराम की पुष्टि की है. उन्होंने कहा, इस्राइल ने हमारे शीर्ष कमांडर अबू अल अता को मारकर लगातार 48 घंटे से हमले किए हैं. गाजा स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस्राइली हवाई हमलों में मरने वालों की संख्या बढ़कर 34 हो चुकी है. जबकि दूसरी तरफ इन तीन दिनों में गाजा से भी करीब 350 रॉकेट इस्राइल पर दागे गए जिसमें 63 नागरिक घायल हुए हैं.

जैसे ही इस्लामिक जिहादी ग्रुप ने गाजा पट्टी से इजरायल पर राकेट दागना शुरू किये, इजरायल भड़क उठा. तेल अवीव समेत इस्राइल के सीमावर्ती इलाके में आपातकाल लगा दिया गया. गाजा के निकट के इस्राइली स्कूल और सरकारी प्रतिष्ठानों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया. रॉकेट से होने वाले हमलों के चलते लोगों के बाहर निकलने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है. इसके बाद इजरायल ने इस्लामिक जिहादी समूह पर भीषण हमला करते हुए एलान किया कि जब तक गाजा क्षेत्र से हमले बंद नहीं होंगे, हमारे हमले बिना दया किए जारी रहेंगे. उनके पास सिर्फ एक ही विकल्प है – या तो इन हमलों को रोकें अथवा अधिक से अधिक हमलों के लिए तैयार रहें.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share