सतर्क थी फिरोजाबाद पुलिस और उसी सतर्कता के चलते दबोचे गये जीजा साले.. मिल कर फैलाना चाहते थे उन्माद


जीजा साले शौक़ीन तथा अली मोहम्मद ने तो तैयारी कर ली थी सुहाग नगरी फिरोजाबाद को हिंसा की आग में झोंकने की. जिस समय सुप्रीम कोर्ट अयोध्या श्रीराम मंदिर मामले में फैसला सुना रहा था, उसी समय जहाँ शासन, प्रशासन तथा गणमान्य लोगों की तरफ से शांति बनाये रखने की अपील की जा रही थी, तो वहीं दूसरी तरफ जीजा-साले शौक़ीन तथा अली मोहम्मद सुहाग नगरी फिरोजाबाद का सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की साजिश रच रहे थे.

लेकिन फिरोजाबाद पुलिस इसके लिए पहले से सतर्क थी तथा जब तक ये लोग अपनी साजिश को अंजाम तक पहुंचा पाते, फिरोजाबाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. खबर के मुताबिक़, अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सुहागनगरी फिरोजाबाद के सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने के उद्देश्य से पुलिस को हिन्दू-मुस्लिम झगड़े की गलत सूचना देने वाले जीजा साले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने दोनों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुये इन्हे जेल भेजा है. पुलिस का कहना है कि इस तरह की गलत सूचना देने वालों पर सख्ती से कार्रवाई होगी.

ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा कल अयोध्या मामले पर सुबह साढ़े दस बजे फैसला सुनाया गया. इसको लेकर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी पूरी तरह से सतर्क थे. जनपद में सांप्रदायिक सौहार्द कायम रहे इसके लिये बैठकों का भी आयोजन किया गया था. जिलाधिकारी चन्द्रविजय सिंह व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सचिन्द्र पटेल ने पैदल गस्त कर लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानते हुये उनसे शांति बनाये रखने की अपील की थी. संवेदनशील व अतिसंवेदनशील स्थानों पर फोर्स की तैनाती की गई थी. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद पुलिस व प्रशासन किसी भी अनहोनी की आशंका लेकर पूरी तरह से मुस्तैद था.

डीएम व एसएसपी ने नगर के कई मिश्रित आबादी वाले प्रमुख स्थानों पर पैदल गस्त कर लोगों से सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने की अपील की थी. पुलिस व प्रशासन की सख्ती के बावजूद भी थाना रसूलपुर क्षेत्र अन्तर्गत दो युवकों ने सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की. इन्होंने 112 नम्बर पर रसूलपुर क्षेत्र में हिन्दू व मुस्लिमों के बीच झगड़ा होने की गलत सूचना पुलिस को दी. सूचना पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी हरकत में आये और जब मौके पर पहुंचे तो ऐसा कुछ भी नहीं था. पुलिस ने सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के लिये गलत सूचना देने वाले इन दोनों युवकों की पहचान कर इन्हें गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस ने पकड़े गये युवकों के नाम जनपद आगरा के फतेहपुर सीकरी निवासी शौकीन पुत्र गुल मौहम्मद व थाना रसूलपुर क्षेत्र के लालपुर निवासी अली मोहम्मद पुत्र सुवराती फकीर बताया है. पुलिस ने बताया कि पकड़े गये दोनों युवकों से पूछताछ की कई तो शौकीन ने बताया कि अली मोहम्मद उसका साला है. दीपावली पर्व पर वह अली मोहम्मद के यहां अपनी ससुराल आया था, तभी से वह यहां रूका हुआ था. पुलिस के अनुसार अली मोहम्मद ने शान्ति व्यवस्था भंग करने के उद्देश्य से 112 नम्बर पर गलत सूचना दी थी. फिलहाल दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share