इधर देश उलझा है महाराष्ट्र में, मध्यप्रदेश में शुरू हुआ खेल.. ज्योतिरादित्य सिंधिया के कदम से मची सियासी खलबली


पूरे देश की नजरें इस समय महाराष्ट्र की सियासत पर टिकी हुई हैं. महाराष्ट्र का सत्ता का जो संग्राम चल रहा है, उसने सिर्फ महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि पूफ्रे देश का ध्यान अपनी ओर खींच रखा है. कहा जाए तो महाराष्ट्र जी सियासत उस टी-20 क्रिकेट मैच की तरह रोमांचक हो गई है, जिसमें हर गेंद पर पलड़ा इधर से उधर हो रहा है. इधर देश महारष्ट्र की सियासत में उलझा है तो उधर मध्यप्रदेश में सियासत के नए खेल के संकेत दिखाई दिए है.

खबर के मुताबिक़, कांग्रेस पार्टी के सीनियर नेता तथा पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक कदम से सियासी खलबली मच गई है. बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्विटर पर अपना बायो बदल दिया है. अब उनका बायो लोक सेवक और क्रिकेट प्रेमी हो गया है. इससे पहले सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल में पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व सांसद लिखा हुआ था. अब ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल बदलने से कई सवाल खड़े हो रहे हैं कि उन्होंने ऐसा क्यों किया? ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर प्रोफ़ाइल में कहीं भी कांग्रेस पार्टी का ज़िक्र नहीं है.

जिस तरह से अचानक से ज्योतिरादित्य सिंधिया से अपना ट्विटर बायो बदला है, तथा नए बायो में कांग्रेस शब्द का जिक्र तक नहीं है बल्कि सिर्फ लोकसेवक व क्रिकेट प्रेमी लिखा है. उससे ये सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा कांग्रेस पार्टी के बीच सब कुछ ठीक नहीं है? क्या सिंधिया कांग्रेस को बाय बाय बोलने वाले हैं? अगर हाँ, तो क्या महाराष्ट्र में छिड़ी सत्ता की जंग के बीच मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार के तख्तापलट का सियासी तानाबाना बुना जा चुका है?

आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के हाल के दिनों में कई ऐसे बयान आए थे जिससे ये लग रहा था कि उनके और कांग्रेस पार्टी के बीच सबकुछ ठीक नहीं है. कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही सिंधिया पार्टी को असहज करने वाले बयान देते रहे हैं. सिंधिया ने कर्जमाफी, बाढ़ राहत राशि के लिए सर्वे और बिजली कटौती के मामले में खुद की पार्टी वाली कमलनाथ सरकार को कटघरे में खड़ा किया था जिसकी वजह से बीजेपी को कमलनाथ सरकार पर हमला करने के कई मौके मिले. अब सिंधिया ने ट्विट्टर बायो में जो  किया है, उससे मध्यप्रदेश की सियासत गरमा गई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share