Breaking News:

लखनऊ में हिंदू बन कर अशफाक ने कमलेश तिवारी की ह्त्या की.. नॉएडा में हिंदू बनकर रह रहे 50 हजार के दुर्दांत अपराधी मेहरगनी के निशाने पर कौन था ?


अशफाक ने रोहित सोलंकी बनकर हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की क्रूरतम तरीके से ह्त्या कर दी थी. कमलेश तिवारी की ह्त्या के बाद पूरा देश आक्रोश से भर उठा था. जिस तरह अशफाक ने हिन्दू बनकर रोहित सोलंकी नाम रखा तथा कमलेश तिवारी को झांसे में लेकर मार डाला, ठीक वैसे ही 50 हजार का दुर्दांत अपराधी मेहरगनी नॉएडा में हिन्दू बनकर रह रहा था, जिसे बुधवार को यूपी एसटीएफ (UP STF) के साथ हुए एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार कर लिया. मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से मेहरगनी घायल हो गया.

बता दें 2008 में पुलिस कस्टडी से फरार हुआ था. बदमाश मेहरगनी ने इलाहाबाद के कर्नलगंज थाने में सिपाही को गोली मारकर हथियार की लूट भी की थी. इसके अलावा 2005 में 5 साल के बच्चे की फिरौती के चलते हत्या कर दी थी. जिसके बाद हत्या के मामले में कोर्ट ने उसे आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई थी. इसके बाद यह बदमाश 2008 में पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था. तभी से यह हिंदू नाम नोएडा में से रह रहा था.

एसएसपी एसटीएफ राजीव नारायण मिश्र ने बताया बुधवार की रात को थाना सेक्टर 24 पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त कार्यवाही ने शहीद चमन पेट्रोल पम्प के पास सेक्टर 54 के जंगल मे पुलिस मुठभेड में शातिर बदमाश मेहरगनी पुत्र पीरबख्श निवासी गांव राठ जिला हमीरपुर को गिरफ्तार किया गया है. मुठभेड के दौरान पुलिस द्वारा की गई जवाबी फायरिंग में अभियुक्त गोली लगने के कारण घायल हो गया. जिसको इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. अभियुक्त मेहरगनी पुत्र पीरबख्श पर प्रयागराज में 50 हजार रूपये का इनाम घोषित है. गिरफ्तार अभियुक्त के कब्जे से एक अवैध पिस्टल, 1 मोटर साइकिल व एक बैग बरामद किया गया है.

यहां बात सिर्फ इतनी सी नहीं है कि कुख्यात मेहरगनी नॉएडा में हिन्दू बनकर रह रहा था, सवाल ये है कि उसने नाम क्यों बदला तथा रहने के लिए नॉएडा ही क्यों चुना ? ये सवाल इसलिए भी है क्योंकि प्रखर हिन्दू राष्ट्रवादी छबि के सुदर्शन टीवी के प्रधान संपादक श्री सुरेश चव्हाणके जी को लगातार मजहबी चरमपंथियों की धमकियां मिलती रही हैं. कमलेश तिवारी की ह्त्या के बाद न सिर्फ सोशल मीडिया पर बल्कि वीडियो के माध्यम से भी सुरेश चव्हाणके जी को कमलेश तिवारी जैसा हाल करने की धमकी दी गई हैं.

इन धमकियों के बाद देशभर से सुरेश जी को सुरक्षा देने की मांग भी उठी है. जिस तरह से सुरेश जी राष्ट्रवादी पत्रकारिता करते हैं, वह जिहादी सोच रखने वाले लोगों की नजरों में खटकते रहे हैं. ऐसे में हिन्दू बनकर नॉएडा में रह गये कुख्यात बदमाश मेहरगनी की गिरफ्तारी के बाद भी तमाम सवाल हैं? सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या कहीं मेहरगनी क्मेल्श तिवारी जैसा ही कुछ करने की तैयारी में तो नहीं था ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share