बाबर के पैरोकार जिस इकबाल अंसारी के अब्बा को अपने साथ ले कर घूमे थे अयोध्या के सेक्युलर संत जानिए अब उसने कहाँ मांगी 5 एकड़ जमीन ?


इनके अब्बा को ले कर अयोध्या में वो धर्मनिरपेक्ष संत कारों में घूमते थे जिनको हिन्दू समाज धर्म का प्रतीक मान कर नमन किया करता था. इनका नाम इक़बाल अंसारी है जो बाबरी के पैरोकार हाशिम अंसारी के बेटे और इस समय भारत की मीडिया की चर्चा में प्रमुख केंद्र के रूप में हैं. संतो ने यकीनन इनको अपने जैसा ही सोचा रहा होगा लेकिन इन्होंने अभी तक अपना वो रूप कभी नहीं दिखाया जो इनके परिवार के लिए अयोध्या के बड़े संतो ने अब तक खुद से आगे बढ़ कर दिखाया है..

अब तक भगवान श्रीराम के जन्मस्थल वाली भूमि को ही बाबरी के लिए लेने के लिए मुकदमा लड़ रहे इकबाल अंसारी ने अब उसी के ठीक बगल अधिग्रहण की गई भूमि मांगी है और 5 एकड़ वाली मस्जिद को मन्दिर के ठीक बगल बनवाने की मांग की है.. अपने अब्बा के बाद बाबरी के पैरोकार रहे इक़बाल अंसारी ने कहा कि ‘अगर सरकार हमें जमीन देना चाहती है तो हमें हमारी सुविधा के हिसाब से देना चाहिए। आवंटित जमीन 67 एकड़ जमीन में से ही होनी चाहिए।

यहाँ ये ध्यान रखने योग्य है की इनके अब्बा के ही इंतकाल के बाद उनके जनाज़े में अयोध्या के संत फूट फूट कर रोये थे..आगे बोलते हुए इक़बाल अंसारी ने कहा कि उन्हें जब श्रीराम मन्दिर के आस पास की अधिग्रहण की गई जमीन दी जायेगी वो तभी हम यह जमीन लेंगे। नहीं तो हम जमीन लेने की पेशकश को ठुकरा देंगे। लोग कह रहे हैं कि 14 कोस से बाहर जाकर मस्जिद बनाओ जो उचित नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि सरकार और कोर्ट ने 5 एकड़ जमीन देने को कहा है लेकिन मुझे अभी तक कोई भी प्रस्ताव नहीं मिला है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share