जो कुकृत्य किया था बगदादी के राक्षसों ने कायला मुलर के साथ वो इंसानों के बस की बात नहीं.. कायला मुलर के नाम पर ही था बगदादी के खात्मे का ऑपरेशन


अमेरिका ने दुर्दांत इस्लामिक आतंकी दल ISIS के मुखिया बगदादी के खात्मे के लिए जो ऑपरेशन चलाया था, उसका नाम “कायला मुलर” के नाम पर रखा गया था. अब यहां ये जानना भी जरूरी है कि आखिर ये कायला मुलर कौन थी, जिसके नाम पर बगदादी जैसे आतंकी को मार गिराने वाले ऑपरेशन का नाम रखा गया था. दरअसल कायला मुलर अमेरिका की मानवाधिकार कार्यकर्ता थी जिसको 2013 में आइएस आतंकियों ने सीरिया के एक अस्पताल से अगवा कर लिया था तथा उसके साथ दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी थीं. इसके बाद कायला मुलर की ह्त्या कर दी थी.

बता दें कि पेशे से मानवाधिकार कार्यकर्ता कायला मूलर स्नातक की पढ़ाई 2012 में पूरी करने के बाद तुर्की चली गई. इसके बाद वह सीरिया में जाकर वहां गृह युद्ध के कारण परेशान लोगों की मदद करने लगीं. वहां वे लोगों की दिन रात सेवा में लगी थी इसी बीच वह एक चैरिटी अस्पताल से निकलकर बाहर जा रही थीं उसे तभी अगस्त 2013 में आतंकियों ने इसे अगवा कर लिया. आतंकियों ने अलेप्पो से उठा कर हैवानियत का खेल खेला. लगातार दुष्कर्म के बाद उसकी 2015 में हत्या कर दी गई. दुनिया में इस जघन्य अपराध की चर्चा हुई थी.

कायला मुलर उन लड़कियों में से एक थीं जिसे आईएसआईएस ने अपने कब्जे में रखा था. आतंकियों ने कायला के साथ बहुत दरिंदगी की थी खुद आईएसआईएस सरगना अबू बक्र बगदादी ने कायला का जमकर यौन शोषण किया था. ऐसे में इस दरिंदे को मारने के लिए चलाए गए अभियान का नाम ही ‘ऑपरेशन कायला’ रखा गया था. ट्रंप ने बगदादी के मारे जाने की घोषणा करते समय कहा था, कायला लोगों की मदद करने वाली खूबसूरत युवा महिला थीं.

कायला के माता-पिता कार्ल मुलर और मार्श मुलर ने जब आईएस सरगना अबू बक्र अल बगदादी की मौत की खबर सुनी तो उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की तारीफ करते हुए कहा, ‘अगर ट्रंप की तरह पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने निर्णय लिया होता तो मेरी बेटी आज जीवित होती.’ उन्होंने अपनी बेटी के नाम पर अभियान चलाने के लिए अमेरिकी सैन्य बलों के प्रति आभार भी व्यक्त किया. कायला का अपहरण आईएसआईएस ने अगस्त 2013 में तब किया था, जब वो अलप्पो शहर में एक हॉस्पिटल में जा रही थीं. उस दौरान उनकी उम्र महज 26 साल थी. आतंकियों ने उसे अपने कैम्प में रखा जहां उन्हें बुरी तरह प्रताड़ित किया गया. खुद आईएसआईएस प्रमुख बगदादी ने कई बार उनका यौन शोषण किया था.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share